" /> मुख्यमंत्री आवास के निकट सरकारी बंगले में डबल मर्डर से थर्राई राजधानी 

मुख्यमंत्री आवास के निकट सरकारी बंगले में डबल मर्डर से थर्राई राजधानी 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अतिविशिष्ट क्षेत्र गौतमपल्ली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास से थोड़ी दूरी पर रेलवे में आईआरटीएस अधिकारी राजीव दत्त बाजपेई की पत्नी व बेटे की शनिवार को दिन दहाड़े घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी गई। दोनों के शव सरकारी बंगले के पिछले कमरे में बेड पर पड़े मिले। हाई सिक्योरिटी जोन में डबल मर्डर की सूचना से महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। हत्या की सूचना पाकर डीजीपी एचसी अवस्थी व एडीजी भी घटनास्थल पहुंचे और जायजा लिया। शुरुआती पड़ताल में पुलिस ने लूटपाट की बात से इनकार किया है। नौकरों की भूमिका की जांच की जा रही है। पुलिस खोजी कुत्तों को लेकर सुराग लगाने का प्रयास कर रही है। पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने बताया कि रेलवे अधिकारी आरडी बाजपेई दिल्ली में तैनात हैं। यहां गौतमपल्ली स्थित रेलवे के सरकारी आवास में उनकी पत्नी मालती, बेटा सर्वदत्त उर्फ शरद बाजपेई व बेटी रहते हैं। शनिवार शाम करीब पौने चार बजे नौकरों ने मालती व सर्वदत्त के खून से लथपथ शव देख पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी। परिवार के करीबियों ने लूटपाट के दौरान घटना किए जाने की आशंका जताई है। जबकि पुलिस का कहना है कि दो कमरे में कुछ सामान बिखरा मिला है। लेकिन, अलमारी बंद है और कीमती सामान गायब नहीं है। इससे प्रथम दृष्ट्या लूट की बात गलत साबित हो रही है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि मालती की बेटी बदहवास हालत में है। उसे इलाज के लिए ट्रॉमा सेटर भेजा गया है। नौकरों से पूछताछ करके घटनाक्रम का ब्याैरा जुटाया जा रहा है। जांच के बाद ही स्थिति कुछ साफ हो सकेगी। जिस इलाके में रेलवे अधिकारी आरडी बाजपेई की पत्नी और बेटे की हत्या हुई वह राजधानी लखनऊ का वीवीआईपी इलाका माना जाता है। इस इलाके में पुलिस की विशेष नजर रहती है। चप्पे चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात हैं।  यहां कई बड़े मंत्रियों और अधिकारियों के सरकारी आवास हैं। सीएम आवास और राजभवन भी कुछ ही दूरी पर है। ऐसे में इतनी भारी सुरक्षा-व्यवस्था वाले इलाके में डबल मर्डर की वारदात बेहद हैरान करने वाली है।