" /> मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मांग हुई मंजूर : छात्र, मजदूर, पर्यटकों को गांव जाने की छूट

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मांग हुई मंजूर : छात्र, मजदूर, पर्यटकों को गांव जाने की छूट

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों, विद्याथियों, पर्यटकों को गांव भेजने की मांग प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी से की थी। प्रधानमंत्री से जब जब वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम मुख्यमंत्री की बातचीत हुई थी तो उक्त मामले को प्रधानमंत्री के समक्ष उपस्थित किया था। आखिरकार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मांग को मंजूर करते हुए केंद्र सरकार ने पर्यटकों, मजदूरों और विद्यार्थियों को गांव जाने की अनुमति दे दी है। गौरतलब हो कि कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए देश में लॉक डाउन लागू है। लॉक डाउन के कारण देश में कई लोग अपने घर से दूर दूसरी जगहों पर फंस गए है। इनमें प्रवासी मजदूर, तीर्थयात्री, पर्यटक और छात्र शामिल है। कल गृह मंत्रालय ने फंसे हुए लोगों के लिए नई गाइडलाइन जारी करके घर जाने की अनुमति दी है।

बता दें कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मांग पर प्रवासी मजदूरों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों और छात्रों की आवाजाही अनुमति दी गई है। नई गाइडलाइन के मुताबिक सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अपने नोडल अधिकारी नियुक्त करने और ऐसे फंसे हुए व्यक्तियों को वापस भेजने और लेने के लिए एक एसओपी की तैनाती करनी होगी। नई गाइडलाइन के तहत एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के इच्छुक लोगों के लिए राज्यों को आपस में बात करनी होगी।
वहीं एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजे जा रहे लोगों की जांच की जाएगी, जांच के बाद ही लोगों को आगे भेजा जाएगा। अपने गंतव्य पर पहुंचने पर ऐसे लोगों को स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के जरिए क्वारनटीन किया जाएगा, साथ ही इन सभी लोगों को आरोग्य सेतु ऐप के उपयोग के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।