मुनाफे की लालच में ३० लाख का स्यापा, तेल के बदले थमाया पानी  

आम तौर पर शुद्ध समाझा जाने वाला बोतल बंद पानी भी अधिकतम २० से २५ रुपए लीटर में बिकता है लेकिन एक अफ़्रीकी ठग ने दुबई में कपडे का व्यवसाय करनेवाले अनिवासी हिंदुस्थानी को तेल के खेल में उलझा कर मुनाफे के नाम पर ३० लाख रुपए का स्यापा करा दिया। एक खास तरह के कॉस्मेटिक तेल के निर्यात में मोटे मुनाफे का लालच देकर उसने व्यापारी से ३० लाख रुपए ऐंठ लिए और बदले में १७ लीटर पानी थमा दिया। तेल के इस खेल में ठग और ३० लाख रुपए ऐंठने की फिराक में था लेकिन एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने उसे हिन्दुस्थानी सहयोगी के साथ दबोच लिया। 

बता दें कि ईश्वर रामानी दुबई में कपड़े का व्यवसाय करते हैं। पिछले दिनों उन्हें एक अज्ञात शख्स ने फोन करके एक विशेष प्रकार के तेल के बारे में बताया। फोन करनेवाले ने कहा उक्त तेल की ब्रिटेन में बहुत ज्यादा मांग है, जबकि वह तेल बहुत ही सस्ते में मिलता है। ठग ने  रामानी को थोड़े निवेश के बदले मोठे मुनाफे का झांसा दिया। ठग ने कहा कि वे ( रामानी ) चाहे तो पहले सैंपल के रूप में थोड़ा तेल खरीद सकते है। इसके बाद वह उन्हें बताएगा कि तेल किसे बेचना है और कितना मुनाफ़ा होगा? ठग के झांसे में फंसकर रामानी  ने सैंपल के रूप में ६८ हजार रुपए का तेल खरीद लिया। बाद में ठग के कहने पर रामानी ने ब्रिटेन में बेचने के लिए तेल उसी शख्स को वापस दे दिया, जो उनके घर तेल पहुंचाने आया था। कुछ दिन बाद ठग ने रामानी से कहा कि ब्रिटेन की एक कंपनी उनका तेल बड़ी कीमत देकर खरीदने को तैयार हो गई है इसलिए वे और माल मंगवा लें। ठग के झांसे में पूरी तरह फंस चुके रामानी ने ईमेल और फोन पर ३० लाख रुपए के और तेल का आर्डर दे दिया, जिसके बदले रामानी ने ठगों द्वारा बताए गए अलग-अलग खातों में ३० लाख रुपए का भुगतान भी कर दिया। पैसे लेकर ठगों ने १७ लीटर तेल भेज दिए तथा बाकी तेल बाद में भेजने की बात कही। लेकिन उक्त १७ लीटर तेल विदेश भेजने के बदले ठग रामानी से और ३० लाख रुपए मांगने लगे। संदेह होने पर रामानी ने ठगों द्वारा भेजे गए तेल की जांच की तो पानी मिला। रामानी ने इसकी शिकायत एनएम जोशी मार्ग पुलिस थाने में दर्ज करा दी। पुलिस उपायुक्त अविनाश कुमार और वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक पंडित थोरात के मार्गदर्शन में मामले की जांच कर रही पीआई सदानंद राणे की टीम के निर्देश पर रामानी ने ठगों से कहा कि वे और तेल पहुंचाएं और उनसे नकद पैसे ले जाएं। इस तरह पुलिस की चाल काम कर गई। मुनाफे का लालच देकर लोगों को ठगने वाला २९ वर्षीय नाइजेरियन ठग अपने हिन्दुस्थानी सहयोगी के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ गया।