" /> मेट्रो निर्माण को फिर मिलेगी रफ्तार : 20 अप्रैल से शुरू होगा काम

मेट्रो निर्माण को फिर मिलेगी रफ्तार : 20 अप्रैल से शुरू होगा काम

विभिन्न मेट्रो परियोजनाओं का काम दुबारा शुरू करने की तैयारी मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) ने तैयारी शुरू कर दी है। 20 अप्रैल से मुंबई की सभी मेट्रो परियोजनाओं पर काम शुरू हो जाएगा। कोरोना संकट की वजह से 23 मार्च से राज्य में लगे कर्फ्यू की वजह से मेट्रो परियोजनाओं का काम ठप पड़ा हुआ है। करीब 1 महीने बाद फिर से मेट्रो का काम शुरू होनेवाला है। इसके लिए अधिकारियों ने मेट्रो साइट की जानकारी एकत्रित करनी शुरू कर दी है, जैसे किस साइट पर कौन सी मशीन मौजूद है, क्या किसी मशीन को दूसरे साइट पर भेजना है। क्या सभी मशीन ठीक से काम कर रही हैं। नियमों का पालन करते हुए हर स्थान पर कितने कर्मचारियों की नियुक्ति की जाए। मुंबई समेत एमएमआर क्षेत्र में एमएमआरडीए 13 मेट्रो परियोजना पर काम कर रहा है। मेट्रो 7 और मेट्रो 2 का काम अपने अंतिम पड़ाव के करीब पहुंच गया है।

एमएमआरडीए के जॉइंट मेट्रोपॉलिटन कमिश्नर डॉ. बी.जी. पवार के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग और सभी नियमों का पालन करते हुए 20 अप्रैल से मुंबई में मेट्रो का काम शुरू किया जाएगा। ठाणे में मजीवाड़ा मेट्रो स्टेशन का काम शुरू कर दिया गया है, वहीं ठाणे के कोपरी में बन रहे आरओबी का भी काम शुरू कर दिया गया है। एमएमआरडीए के पास वेस्टर्न और ईस्टर्न एक्सप्रेस वे की भी जिम्मेदारी है। मॉनसून के आने में अब करीब एक से डेढ़ महीने का ही समय बचा है। इस वजह से एमएमआरडीए ने पहले ही मॉनसून पूर्व कामों की शुरुआत कर दी है। महानगर के दोनों हाइवे और फ्लाईओवर के सड़कों के गड्ढे भरने काम और नाला सफाई का काम शुरू कर दिया है। देश में कोरोना फैलने की संभावना को देखते हुए एमएमआरडीए ने अपने 11,000 मजदूरों को मुंबई में ही रोक रखा है। इन मजदूरों को भोजन उपलब्ध करवाने से लेकर उनके स्वास्थ्य जांच का पूरा खर्च उठाने का निर्णय पहले भी प्राधिकरण ने लिया है। एमएमआरडीए विभिन्न मेट्रो परियोजना के साथ शिवड़ी न्हावा-सेवा ( एमटीएचएल) परियोजना, सूर्या जल परियोजना समेत विभिन्न परियोजना पर काम कर रहा है। इसमें से मेट्रो परियोजनाओं पर 5444 मजदूर, एमटीएचएल परियोजना पर 5042 मजदूर अन्य परियोजनाओं पर 576 मजदूर काम कर रहे है। कोरोना वायरस की वजह से लगे कर्फ्यू की वजह से सभी परियोजनाओं का काम रोक दिया गया है।