" /> मेट्रो स्टेशन से घर जाना होगा आसान

मेट्रो स्टेशन से घर जाना होगा आसान

मुंबई में मेट्रो २ए (दहिसर से डीएन नगर) और मेट्रो-७ (अंधेरी-ईस्ट से दहिसर-ईस्ट) का परिचालन साल २०२० के आखिर तक शुरू करने की योजना एमएमआरडीए की है। मुंबईकर जब मेट्रो स्टेशन से बाहर निकलेंगे तो उन्हें बस, टैक्सी या फिर शहर के अन्य यातायात सेवा के लिए लंबा इंतजार नहीं करना होगा। मेट्रो स्टेशन से बाहर निकलते ही यात्री को ऑटोरिक्शा, टैक्सी, बस, निजी टैक्सी सेवा, साइकिल सेवा आदि तत्काल मिल जाएगी। मेट्रो के यात्रियों को मेट्रो स्टेशन से उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचने में कोई परेशानी न हो इसलिए एमएमआरडीए लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्टेशन की व्यवस्था करने में लगी है। इसके लिए एमएमआरडीए ३५६ करोड़ रुपए खर्च करेगी।
जानकारी के मुताबिक इस योजना को अमल में लाने के लिए पैकेज-१ और पैकेज-२ में ८ स्टेशन होंगे। प्रत्येक पैकेज की निविदा खर्च ८२.५५ करोड और ९५.१५ करोड़ होगी जबकि पैकेज-३ और पैकेज -४ में ७ स्टेशनों का समावेश होगा, जिसकी निविदा खर्च ९१.०४ करोड़ और ८५.१२ करोड़ रुपए होगी। प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंसी के अनुसार दो पैकेज १५ स्टेशनों के लिए होंगे।
बता दें कि मेट्रो स्टेशनों तक सभी लोगों की पहुंच बेहतर तरीके से हो इसलिए एमएमआरडीए ने मल्टी मॉडल एकीकरण भी शुरू किया है। एमएमआरडीए ने ३० जनवरी को मेट्रो-२ए और मेट्रो-७ कॉरिडोर के लिए ४ अलग-अलग पैकेज में मल्टी मॉडल एकीकरण योजना को अमल में लाने के लिए ठेकेदारों को नियुक्त करने और परियोजना प्रबंधन परामर्श के लिए निविदा मंगाई हैं।
इतना ही नहीं एमएमआरडीए ने ट्रैफिक और यातायात की स्थिति में सुधार लाने के लिए मास्टर प्लान तैयार किया है। इस योजना के तहत एमएमआर रीजन में मेट्रो सिस्टम एक किमी के दायरे में उपलब्ध होगी। गौरतलब है कि एमएमआरडीए ने एमएमआर रीजन में १४ मेट्रो लाइन की मदद से २२५ से अधिक स्टेशन के साथ ३३७ किमी से अधिक लंबी मेट्रो लाइन का नेटवर्क तैयार करने की रूपरेखा बनाई है।
एमएमआरडीए के कमिश्नर आरए राजीव का कहना है कि मॉल और कमर्शियल इलाकों की सीधी पहुंच लोगों के साथ-साथ विकासकों के लिए भी फायदेमंद रहेगी। दोनों तरफ से यह यात्रा सुविधाजनक होगी। हमारा मकसद यात्रियों की सुविधा योग्य तरीके से करने की है। शहर के भले के लिए ये पब्लिक ट्रांसपोर्ट उपलब्ध रहेगा। सफर के शुरुआत से लेकर सफर के अंत तक यात्रियों को कई परेशानी न हो यही हमारी कल्पना है।