" /> मैं बागी होने से बच गया!

मैं बागी होने से बच गया!

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के बेटे रितेश देशमुख को पॉलिटिक्स की बजाय बॉलीवुड में आए १७ वर्ष हो चुके हैं। अपनी डेब्यू फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ में उन्होंने अभिनेत्री जेनेलिया डिसूजा के साथ फिल्मों में कदम रखा और आगे चलकर उन्होंने जेनेलिया से शादी कर ली। ये दंपति बॉलीवुड का एक सफल और आदर्श दंपति है। फिल्म ‘बागी-३’ में रितेश टाइगर श्रॉफ के बड़े भाई का किरदार निभा रहे हैं। पेश है रितेश देशमुख से पूजा सामंत की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-
 फिल्म ‘बागी-३’ करने की कोई खास वजह, जबकि इसके हीरो टाइगर श्रॉफ हैं?
‘बागी’ के निर्माता साजिद नाडियादवाला ने मुझे ‘बागी-३’ का ऑफर देते हुए कहा कि टाइगर के बड़े भाई का किरदार है, क्या आप करोगे? उन्होंने निर्देशक अहमद खान को मेरे घर भेजा और उन्होंने मुझे कहानी सुनाई। कहानी और रोल पसंद आते ही मैंने इस फिल्म के लिए हां कह दी। ये फिल्म मेरे लिए एक इमोशनल जर्नी रही है।
 क्या इस किरदार से आप रिलेट करते हैं?
‘बागी-३’ की कहानी सुनते ही मुझे लगा कि मैं अपने भाइयों धीरज और अमित की कहानी सुन रहा हूं। हम तीनों बहुत क्लोज हैं। साजिद की ‘बागी’ एक सफल प्रâेंचाइजी फिल्म है। अगर ‘बागी-२’ में जबरदस्त एक्शन था तो ‘बागी-३’ में सुपर एक्शन होगा। कुल मिलाकर ये फिल्म बहुत एंटरटेनिंग लगी।
 टाइगर के साथ पहली बार काम करके वैâसा लगा?
अपने पिता जैकी श्रॉफ की तरह टाइगर भी विनम्र और दिमाग से शांत है। माइनस सेवन के वेदर में मैंने थर्मल वेयर-स्वेटर्स पहनकर सर्बिया में शूटिंग की फिर भी मुझे ‘ंड लग रही थी लेकिन टाइगर शर्टलेस था। बहुत कमाल का संयम और काम के प्रति निष्ठा है टाइगर में। एक खास आत्मीयता का अनुभव हुआ टाइगर के साथ काम करके।
 अपने जीवन में आप कभी बागी बने हैं?
मैं कभी बागी बनूं, ये नौबत मुझ पर कभी नहीं आई। अब देखिए न, मेरे परिवार का पॉलिटिकल बैकग्राउंड है और आर्किटेक्ट बनने के बाद मैंने अपने पिताजी से कहा कि मेरी अभिनय में दिलचस्पी है तो उन्होंने और मां ने खुले दिल से कहा, ‘कोई हर्ज नहीं है, अभिनय में जा सकते हो!’ अगर वो इस तरह लिबरल नहीं होते तो कहते कि या तो आर्किटेक्चर बनो या राजनीति में मेरा हाथ थामो। लेकिन मुझे उन्हें जबरदस्ती मनाना नहीं पड़ा और मैं बागी होने से बच गया।
 जेनेलिया से विवाह करने के लिए आप जरूर रिबेलियस बने होंगे?
हम दोनों का परिचय और प्यार हमारी डेब्यू फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ के दौरान हुआ। हमारी दोस्ती ७-८ वर्षों तक चली, उसके बाद हमने शादी की। लंबी कोर्टशिप के चलते दोनों परिवारों को पता था कि हम शादी करेंगे इसलिए कोई हंगामा नहीं हुआ और मुझे बगावत करने की कोई जरूरत नहीं पड़ी।
 १७ वर्षों के करियर में आपने अपने सीनियर्स से क्या कुछ सीखा?
मेरा बैकग्राउंड फिल्मी नहीं है और मैं स्टार सन भी नहीं हूं। अमिताभ बच्चन से लेकर जान अब्राहम, जैकी श्रॉफ से लेकर टाइगर श्रॉफ तक सभी के साथ मुझे काम करने का मौका मिला। मैंने हमेशा कोशिश की है कि सभी के अच्छे गुणों को याद रखूं।
 आपके पिता पर बायोपिक फिल्म बने तो क्या आप उस फिल्म को करना चाहेंगे?
मेरे पिता के राजनैतिक जीवन को ३ घंटों में समेटना आसान नहीं है। मेरे पिता ग्रामसेवक से सरपंच बने और सरपंच से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने। बहुत ही प्रेरणादायी सफर रहा उनका। खैर, भविष्य में क्या होगा? इसे अभी कहना बहुत मुश्किल है। उनका किरदार कौन निभाएगा? ये बाद की बात है।

– रितेश देशमुख
जन्म तारीख – १७ दिसंबर
जन्मस्थान – लातूर कद – ५ फुट ८ इंच
वजन – ६४ किलो प्रिय रंग – ब्लू
प्रिय परिधान – कुर्ता-पाजामा, ट्रैक सूट
पसंदीदा व्यंजन- मटन-भाकरी और झुणका भाकरी
मनपसंद फिल्म – ‘पिंजरा’, ‘लय भारी’
पसंदीदा अभिनेत्री – जेनेलिया देशमुख
मनपसंद टूरिस्ट प्लेस – छुट्टियों में हम सभी लातूर जाना चाहते हैं। यहीं हमारा पुश्तैनी घर है।