मैदान को मार्केट बनाने का विरोध, निवासियों के समर्थन में उतरी शिवसेना

मीरा रोड-पूर्व के शांति गार्डन परिसर में स्कूल व खेल के मैदान के लिए आरक्षित भूखंड (क्र.३३६) को मनपा प्रशासन ने सत्ताधारी भाजपा के दबाव में बदलकर यहां फल एवं सब्जी मार्वेâट बनाने का निर्णय लिया है। मार्वेâट का निर्माण कार्य शुरू होने की भनक लगते ही महिलाओं व वरिष्ठ नागरिकों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। स्थानीय नागरिकों के समर्थन में अब शिवसेना भी मैदान में उतर गई है, जिससे मार्केट का निर्माण कार्य रोक दिया गया है।

❛खेल के मैदान और प्राथमिक स्कूल के लिए आरक्षित इस भूखंड का एक हिस्सा मनपा के कब्जे में है। यहां मैदान, बगीचा और कुछ हिस्से पर अस्थाई मार्वेâट बनाने का निर्णय लिया गया था। स्थानीय नागरिकों के विरोध की जानकारी मनपा आयुक्त खतगावकर को दी गई है। आयुक्त योग्य निर्णय लेंगे।
– दीपक खांबित (कार्यकारी अभियंता)

❛पहले यहां गार्डन बनाना सुनिश्चित किया गया था लेकिन अचानक यहां मार्वेâट का कार्य शुरू कर दिया गया, जिससे स्थानीय वरिष्ठ नागरिकों के घूमने-फिरने और बच्चों को खेलने की सुविधा खत्म हो जाएगीr। हम मार्वेâट का विरोध करते हैं।
– दिलीप लाड (वरिष्ठ नागरिक)

❛बच्चे इमारत परिसर में नहीं खेल सकते, परिसर में खड़ी गाड़ियों को क्षति पहुंचने का डर रहता है। खेल के मैदान के अभाव में बच्चे मोबाइल और कंप्यूटर पर गेम खेलने में व्यस्त हो जाते हैं, जिससे उनका शारीरिक और बौद्धिक विकास बाधित होता है और उनकी आदतें भी बिगड़ती हैं इसलिए यहां खेल का मैदान ही बनना चाहिए।
– उर्मिला नौटियाल (स्थानीय निवासी)

❛मैंने मनपा आयुक्त बालाजी खतगावकर को पत्र लिखकर यहां खेल के मैदान और गार्डन बनाने की मांग पहले ही की थी। इसके बावजूद मनपा प्रशासन ने यहां मार्वेâट बनाने का कार्य शुरू कर दिया है। इसका स्थानीय नागरिकों सहित शिवसेना ने विरोध किया है। इस परिसर में एक भी फेरीवालों को हम नहीं बैठने देते हैं। मार्केट बनने से यहां की शांति भंग होगी तथा बच्चे भी खेल के मैदान से वंचित हो जाएंगे।
-राजू भोईर (विरोधी पक्ष नेता)

☛ मार्केट का निर्माण कार्य रुका
☛ स्थानीय नागरिकों का प्रचंड विरोध
☛ स्कूल व खेल के मैदान के लिए आरक्षित
☛ मनपा प्रशासन यहां बनाना चाहता है मार्केट
☛ शांति गार्डन की शांति भंग करने का प्रयास