मॉनसून अलर्ट! दो दिन टेंशन के

मुंबई सहित आसपास के जिलों में आखिरकार मॉनसून का पूरी तरह आगमन हो गया है। शनिवार सुबह से ही मुंबई, ठाणे, भिवंडी सहित अन्य क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश हो रही है। क्षेत्रीय मौसम विभाग ने मुंबई में अलर्ट जारी किया है। आगामी दो दिनों तक भारी बारिश का टेंशन मुंबई में बना रहेगा। ८ से ९ जून के दरम्यान मुंबई के परेल, दादर, सायन में १०० मिमी बारिश दर्ज की गई है जबकि माझगांव में (११९ एमएम) उपनगर के जोगेश्वरी (१३६ एमएम), पवई (१२० एमएम) बारिश हुई है। हालांकि मौसम विभाग द्वारा जताई गई आशंका से बारिश की तीव्रता ३० से ४० प्रतिशत कम ही रही है। इसके बावजूद मौसम विभाग ने २ दिन मुंबई, ठाणे को अलर्ट रहने के लिए कहा है।
बता दें कि पिछले वर्ष मुंबई में मॉनसून १० जून को पहुंचा था जबकि इस बार एक दिन पहले ही मॉनसून ने दस्तक दी है। मुंबई के कुछ इलाकों में भारी बारिश हुई जबकि कुछ इलाकों में ज्यादा बारिश हुई है। मुंबई से सटे ठाणे में १८२ एमएम जबकि भिवंडी में सबसे ज्यादा २१० मिमी बारिश हुई है। मुंबई के कुछ हिस्सों में जल-जमाव भी देखने को मिला लेकिन मनपा द्वारा लगाए गए पंप पानी निकासी के काम में लगे हुए थे। भारी बारिश के चलते रेलवे महज १० से १५ मिनट देरी से चल रही थी। मौसम विशेषज्ञ दिनेश मिश्रा ने बताया कि अरब सागर में बना साइक्लोनिक सर्वुâलेशन धीरे-धीरे उत्तर की ओर बढ़ रहा है, जिसके जमीन से दूर होने के कारण बारिश की तीव्रता थोड़ी कम हो गई है। इसके बावजूद मुंबई सहित आसपास के क्षेत्र में ११ जून तक भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग के उपनिदेशक (पश्चिम हिंदुस्थान) के एस. होसलिकर ने बताया कि वर्तमान स्थितियों के अनुसार रविवार को मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। चूंकि मॉनसून मुंबई पहुंच चुका है तो कुछ इलाकों में ज्यादा बारिश भी देखने को मिल सकती है।

हर स्थिति में मनपा तैयार, आयुक्त सहित तीन हजार कर्मचारी सड़क पर
मौसम विभाग के संकेत के अनुसार कल रात से ही मुंबई में मूसलाधार बारिश हुई। बारिश में मुंबईकरों को कोई परेशानी न हो और उनकी मदद के लिए मनपा आयुक्त सहित तीन हजार कर्मचारी सड़क पर उतर आए।
मौसम विभाग ने ८ से ११ जून के बीच मूसलाधार बारिश होने की भविष्यवाणी की थी। इसके चलते कल रात से ही मुंबई शहर और उपनगरों में बिजली की कड़कडाहट सहित मूसलाधार बारिश हो रही है। इसके चलते परेल, हिंदमाता, सायन, बांद्रा, माहिम, चेंबूर जैसे निचले इलाकों में जल-जमाव हो गया था। इन इलाकों में जल-जमाव की वजह यहां करीब १०० मिमी से अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष अंधेरी-कुर्ला रोड, अंधेरी पुलिस स्टेशन के पास, वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे के पास के परिसर, सांताव्रुâज स्थित स्वागत होटल के पास, जय भारत कॉलोनी, ओबेरॉय मॉल के पास, लोखंडवाला परिसर, श्रीकृष्ण हॉल, पुनीत नगर, सुदाम भाग के निचले हिस्सों में जल-जमाव नहीं हुआ। इसकी वजह बीते वर्ष में यहां किए गए विभिन्न कार्य बताए जाते है। इसके साथ ही पिछली वर्ष इतनी-सी बारिश में डूबनेवाला फितवाला रोड़, वाकोला पुलिस स्टेशन, कुर्ला इलाका जल-जमाव से मुक्त रहा।