मॉनसून तक मुर्गी महंगी, गर्मी का कहर और ईद का इफेक्ट

रमजान शुरू होने के साथ ही इस बार मुर्गी के भावों में उछाल देखने को मिला था। अब मुंबई का तापमान बढ़ने के बाद ईद के मौके पर एक बार फिर मुर्गी के भावों में भारी उछाल आया, जिससे मुंबईकरों की पॉकेट ढीली होनी तय है। विक्रेताओं का कहना है कि गर्मी के कहर और ईद के इफेक्ट से मॉनसून तक मुर्गियां इसी तरह महंगी रहनेवाली हैं।
बता दें कि मुंबई में मुर्गियों की सप्लाई नासिक और आसपास के क्षेत्रों से होती है। इस साल तापमान ज्यादा होने के कारण कई मुर्गियों और उनके बच्चों की गर्मी से मौत हो गई, जिससे नासिक से कम संख्या में मुर्गियां मुंबई आ रही हैं। इसी के साथ मुर्गियों की सप्लाई करनेवाले अधिकांशत: मुस्लिम समुदाय के होते हैं। ईद के मौके के कारण सभी उत्सव मनाने में व्यस्त हैं, जिसके चलते मुंबई में सप्लाई होनेवाली मुर्गियों की संख्या और अधिक घट गई है। डिमांड ज्यादा होने और सप्लाई कम होने से मुर्गियों के भाव बढ़ना तय है। रियल गुड चिकन शॉप के विक्रेता अबान बुखारी ने बताया कि आम दिनों में चिकन के भाव एक या दो प्रतिशत कभी-कभी ऊपर-नीचे होते रहते हैं पर अभी ईद होने के कारण ये भाव १० प्रतिशत तक बढ़ रहे हैं। मॉनसून तक कम मुर्गियां सप्लाई होने से इसी प्रकार भाव तेज रहेंगे। इसी के साथ नील चिकन शॉप के विक्रेता आसिम खान ने बताया कि जो मुर्गियां १५० रुपए प्रति किग्रा बिक रही थीं, उनकी कीमत अब १६५-१७० रुपए तक पहुंच गई है। चिकन खाने के लिए लोग अब मॉनसून का इंतजार कर रहे हैं।