मॉनसून में नहीं डूबेगी लोकल, मध्य रेलवे ने किया पुख्ता बंदोबस्त

मॉनसून के दौराान हर साल लोकल सेवाओं पर असर पड़ता है। रेलवे के निचले इलाकों में जलजमाव के कारण लोकल सेवाएं घंटों प्रभावित होती हैं परंतु रेलवे के अधिकारियों की मानें तो इस साल मॉनसून को लेकर मध्य रेलवे ने पुख्ता तैयारियां की हैं ताकि लाखों यात्रियों के सफर में व्यवधान न उत्पन्न हो।
मध्य रेलवे के अधिकारियों के अनुसार मॉनसून के दौरान इस बार लोकल सेवाएं प्रभावित न हों इसलिए पुख्ता तैयारियां की गई हैं। मध्य रेलवे का दावा है कि इस साल लोकल के यात्रियों को सफर के दौरान परेशानी नहीं झेलनी पड़ेगी। मध्य रेलवे के अधिकारियों के अनुसार सीएसएमटी से कल्याण, कर्जत, कसारा सहित पनवेल के बीच ९५ पंप लगाए जाएंगे। ९५ पंपों में से १६ पंप मनपा और ७९ पंप रेलवे की ओर से लगाए जाएंगे। मध्य रेलवे की योजना के अनुसार सीएसएमटी से ठाणे ३६ पंप, ठाणे से कल्याण ४ पंप, सीएसएमटी से मानखुर्द २६ पंप, कल्याण से कर्जत १० पंप, दिवा से पनवेल ३ पंप, पनवेल से रोहा १३ पंप और पनवेल से कर्जत १० पंप लगाए जाएंगे। मध्य रेलवे ने घाट सेक्शन में ७०६ बोल्डर (पत्थर) चिह्नित किए हैं, जिसमें से २६६ बोल्डर को सुरक्षा की दृष्टि से हटाया गया है। अन्य बोल्डरों को निकालने का काम जारी है। मध्य रेलवे ने मॉनसून को लेकर सीएसएमटी से कर्जत ५५ प्रतिशत, कर्जत से कल्याण शत-प्रतिशत, सीएसएमटी से पनवेल के बीच ७७ प्रतिशत नाला सफाई का काम पूरा कर लिया है। मध्य रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी अनिल जैन का कहना है कि मॉनसून की तैयारियों के लिए मध्य रेलवे ने अपना काम तेज गति से शुरू किया है। ३१ मई से पहले सारा काम पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही मॉनसून के दौरान लगातार निगरानी रखी जाएगी, ताकि कहीं जलजमाव की स्थिति न बन पाए।