" /> ‘मोंट ब्लांक’ नामक फर्जी वेबसाइट से ठगी कर रहे हैं साइबर अपराधी

‘मोंट ब्लांक’ नामक फर्जी वेबसाइट से ठगी कर रहे हैं साइबर अपराधी

अब तक 404 हुई घटनाएं
213 साइबर अपराधियों को किया गया गिरफ्तार
साइबर अपराधी वर्तमान में ‘मोंट ब्लांक’ नामक एक फर्जी वेबसाइट के बारे में वित्तीय धोखाधड़ी कर रहे हैं। इस प्रकार की कई शिकायतें मिल रही हैं। इससे सावधान रहने की अपील साइबर विभाग ने की है। लॉकडाउन के दौरान कई साइबर हैकर्स फर्जी मैसेज और फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों को ठग रहे हैं। इंटरनेशनल कंपनी मोंट ब्लांक के नाम से कई मैसेज और पोस्ट वायरल हो रहे हैं कि कंपनी लॉकडाउन के दौरान अपने इंटरनेशनल प्रोडक्ट्स, खासकर अपने इंक पेन पर भारी छूट दे रही है। महाराष्ट्र साइबर ने सभी नागरिकों से अनुरोध किया है कि यदि निम्न वेबसाइटों में से किसी भी वेबसाइट का नाम संदेश में दिखाई देता है, तो वे किसी भी संदेश पर क्लिक न करें। क्योंकि यह वेबसाइटें साइबर हैकर द्वारा बनाई गई फर्जी वेबसाइटें हैं, जो लोगों को ऑनलाइन धोखा देती हैं।

बता दें कि लॉकडाउन के दौरान कुछ अपराधी और बदमाश जालसाजी का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। महाराष्ट्र साइबर विभाग ने उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। राज्य में साइबर से संबंधित 404 मामले दर्ज किए गए हैं और 213 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। महाराष्ट्र साइबर विभाग के विशेष पुलिस महानिरीक्षक के मुताबिक टिकटॉक, फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया पर अफवाह फैलानेवालों के खिलाफ राज्य के विभिन्न पुलिस स्टेशनों में कुल 404 अपराध (जिनमें से 20 एनसी) दर्ज किए गए हैं। जब महाराष्ट्र साइबर ने इन सभी अपराधों का विश्लेषण किया, तो पाया गया कि आपत्तिजनक व्हाट्सएप संदेशों को अग्रेषित करने के लिए 170 मामले दर्ज किए गए हैं। आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट साझा करने के लिए 161 मामले, टिकटॉक वीडियो साझा करने के 18 मामले और ट्वीट के 7 मामले दर्ज किए गए हैं। अन्य सोशल मीडिया (ऑडियो क्लिप, यूट्यूब) ने कथित तौर पर 44 मामलों में दुरुपयोग किया गया है। अब तक 213 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 102 आपत्तिजनक पोस्ट को हटा लिया गया है।