मोदी सरकार दोबारा सत्ता में नहीं आएगी, राम मंदिर का मुद्दा चुनाव से पहले ही समाप्त होना चाहिए

जनता बदलाव चाहती है। वर्ष २०१४ के चुनाव में वह दिखा, लेकिन सत्ता में आई भाजपा की मोदी सरकार ने दिए गए आश्वासनों को पूरा नहीं किया। जनता को घोर निराश किया इसलिए २०१९ के चुनाव में मोदी सरकार दोबारा सत्ता में नहीं आएगी, ऐसा कहते हुए शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत ने विश्वास जताया कि महाराष्ट्र में शिवसेना बहुमत से सत्ता में आएगी और मुख्यमंत्री भी शिवसेना का ही होगा।
अलीबाग प्रेस एसोसिएशन के १०वें वर्धापन दिन के उपलक्ष्य में जेएसएम महाविद्यालय के केलुसकर सभागृह में सांसद संजय राऊत का साक्षात्कार संजय भुसकुटे ने लिया। इस दौरान उन्होंने सभी सवालों का रोखठोक जवाब दिया। राम मंदिर के मुद्दे पर मोदी सरकार सत्ता में आई। पिछले चार वर्षों से यह मुद्दा अभी भी अधर में है। पूर्ण बहुमत मिलने के बाद भी सरकार राम मंदिर के लिए अध्यादेश नहीं जारी कर रही है। देश की जनता की समस्या हल हो इसलिए भाजपा को बहुमत मिला लेकिन ४ वर्षों में उन्होंने कोई भी ठोस काम नहीं किया, इसलिए २०१९ के चुनाव में भाजपा की संख्याबल १०० के करीब घटेगा, ऐसा संजय राऊत ने कहा। आगामी चुनाव में राम मंदिर का मुद्दा प्रचार में न आए यही हमारी भूमिका है और इसीलिए ही शिवसेना ने राम मंदिर का मुद्दा उठाया है, ऐसा संजय राऊत ने स्पष्ट किया।