मौका

इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में खेले जा रहे पांचवें टेस्ट में रिषभ पंत ने करियर का पहला शतक ठोका। ओवल की मुश्किल पिच पर जिसने भी पंत की इस बेखौफ पारी को देखा वो उनका मुरीद बन गया। हालांकि पंत की रिकॉर्डतोड़ पारी के बावजूद उनपर सवाल उठ रहे हैं और पूर्व विकेटकीपर नयन मोंगिया का मानना है कि इस युवा विकेटकीपर को अभी परिपक्वता की जरूरत है। पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे और दीपदास गुप्ता का भी रिषभ पंत पर कुछ ऐसी ही राय है। इंटरव्यू में नयन मोंगिया ने कहा, ‘पंत अभी नए खिलाड़ी हैं। मुझे लगता है कि आईपीएल फॉर्म को देखकर खिलाड़ी चुनना गलत है। रिषभ पंत की विकेटकीपिंग का अंदाज सही नहीं है। मुझे इस बात का डर है कि अगर पंत इंग्लैंड में स्पिनर्स के खिलाफ अच्छी विकेटकीपिंग नहीं कर पा रहे हैं तो वो भारतीय उपमहाद्वीप में होने वाले टेस्ट मैचों में चौथे और पांचवें दिन कैसे विकेटकीपिंग करेंगे?’ नयन मोंगिया से जब पूछा गया कि पंत की जगह किस विकेटकीपर को मौका मिलना चाहिए तो उन्होंने पार्थिव पटेल का नाम लिया। मोंगिया ने कहा, पार्थिव साउथ अफ्रीका में दूसरे विकेटकीपर थे। उन्हें टेस्ट टीम में जगह क्यों नहीं मिली? मुझे लगता है कि पार्थिव पटेल को टेस्ट टीम में मौका मिलना चाहिए।