मौसम ने किया कन्फ्यूज!, शुक्रवार को ठंडी शनिवार को गर्मी

इन दिनों मुंबईकरों के लिए मौसम का मिजाज समझ पाना मुश्किल हो गया है। गत सोमवार को ३५ डिग्री पर पहुंचा अधितकम तापमान कल अचानक से २७ डिग्री सेल्सियस पर जा लुढ़का। मौसम का आकलन करनेवाली संस्थाओं की मानें तो शुक्रवार तक ठंडी रहेगी और शनिवार से एक बार फिर गर्मी बढ़ जाएगी। मौसम के इस अस्थाई स्थिति को समझने में अब आम लोग कन्फ्यूज हो रहे हैं।
बता दें कि विगत चार-पांच दिनों से मुंबईकरों ने अपने गर्म कपड़ों को फिर कपाट में रख दिया था। इन्हें लगने लगा था कि मौसम का मिजाज अब गर्म ही रहेगा। बुधवार को जो मुंबईकर बिना गर्म कपड़े के अपने कार्यालयों या अन्य कार्य से बाहर निकले थे शाम होते-होते अचानक से उन्हें सिहरन सी महसूस होने लगी। जो पारा ३५ डिग्री के पार पहुंच चुका था वह अचानक ही ५ डिग्री सेल्सियस से ज्यादा नीचे लुढ़क पड़ा था। अचानक मौसम में आए बदलाव को मुंबईकर समझ नहीं पा रहे थे। क्षेत्रीय मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कल शहर का अधितकम तापमान २७.६ डिग्री सेल्सियस और उपनगर का तापमान २७.३ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं कल शहर का न्यूनतम तापमान २०.५ डिग्री और उपनगर का १७.६ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मुंबई में ठंड बढ़ रही है आज भी तापमान यू ही बना रहेगा। लोगों को स्वास्थ्य का खयाल रखने की हिदायत भी मौसम विभाग के उप निदेशक के एच. होसालिकर ने दी।

ठंड क्यों बढ़ी?
मौसम का आकलन करनेवाली संस्था `स्काई मेट’ के चीफ मेट्रोलॉजिस्ट महेश पालावत ने `दोपहर का सामना’ को बताया कि अमूमन फरवरी से तापमान में बढ़त देखने को मिलती है लेकिन इस बार देश के उत्तरी इलाकों में अच्छी बर्फबारी हुई है जिसके चलते उत्तर व उत्तर-पश्चिम से दक्षिण यानी मुंबई की ओर आनेवाली हवाएं एक बार फिर प्रबल हो गई हैं। नतीजन ठंडी हवाएं मुंबई के तापमान को गिरा रही हैं। दूसरा कारण यह भी है कि जनवरी और फरवरी में उत्तरी इलाकों में काफी कम दबाव के क्षेत्र आए, जिससे अच्छी बारिश भी हुई, जिसके चलते ठंडी हवाओं को गति मिलती रही। बीच-बीच में दक्षिण-पूर्वी हवाएं भी प्रबल हो जाती हैं इसलिए अचानक से तापमान में वृद्धि भी देखने को मिल रही है। तीसरा कारण अमेरिका और यूरोप में चल रहे स्नो स्ट्रोम (भारी बर्फबारी) भी देश के तापमान को प्रभावित कर रहा है।
मुंबई में स्वाइन फ्लू का पहला मामला
मुंबई में विगत एक साप्ताह से मौसम में हो रहे उतार-चढ़ाव का असर अब दिखने लगा है। लोग सर्दी-जुखाम, बुखार आदि छोटी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं। इसी बीच अंधेरी के ५० वर्षीय व्यक्ति में स्वाइन फ्लू की पुष्टि भी हुई है। मरीज को बुधवार को मनपा के कस्तूरबा अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। गौरतलब है कि जब भी दिन और रात के तापमान में ज्यादा अंतर होता है, तब-तब स्वाइन फ्लू के मामले देखने को मिलते है।