म्हाडा के सस्ते मकानों की श्रेणी से विधायकों-सांसदों का पत्ता कटा

गरीब खिलाड़ियों को दिए जाएंगे मकान

विधायकों, सांसदों के लिए आरक्षित म्हाडा के सस्ते (अल्प श्रेणी) मकानों में कटौती कर राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचे गरीब खिलाड़ियों को मकान देने का पैâसला म्हाडा ने लिया हैै। हाल ही में जारी म्हाडा की लॉटरी में आरक्षित इन श्रेणी के मकानों के लिए एक भी आवेदन नहीं आने के चलते म्हाडा अध्यक्ष उदय सामंत ने यह पैâसला लिया है। साथ ही मुंबई में अब भूखंडों के वितरण के बाद तीन साल में कार्य नहीं शुरू करने पर भूखंड वापस लेने का भी फरमान म्हाडा प्राधिकरण ने लिया है।
गौरतलब है कि म्हाडा मकानों के सभी श्रेणी में विधायकों और सांसदों के लिए आरक्षित मकान रखे जाते हैं जबकि सांसद और विधायकों की आय के मुताबिक वे उच्च वर्ग व मध्यम श्रेणी के मकान में बैठते हैं। इसी के चलते म्हाडा की इस लॉटरी में सभी अल्प व अतिअल्प के इनके आरक्षित मकानों का एक प्रतिशत देश के गरीब व आर्थिक रूप से पिछड़े खिलाड़ियों को देने का पैâसला म्हाडा प्राधिकरण ने लिया है। मुंबई के भूखंड लेकर बैठे कई संस्था व सोसायटी पर भी गाज गिरनेवाली है जिन्होंने अभी तक कोई कार्य नहीं किया।