म्हाडा में रसूखदार इंजीनियरों का दबदबा

मुंबई पुलिस विभाग में रसूखदारों को क्रीम पोस्टिंग की खुलती कलई के बाद गृहनिर्माण विभाग म्हाडा में भी सैकड़ों इंजीनियरों व कर्मचारियों के तबादले में मलाईदार पोस्टिंग के लिए रसूखदारों का दबदबा कायम होने की पोल खुली है। जिन इंजीनियरों को अभी तीन वर्ष पूरे भी नहीं हुए थे उन्हें रसूखदारों के दबाव में झुक कर प्रशासन ने तबादला कर दिया। जिसकी शिकायत इंजीनियरों ने म्हाडा उपाध्यक्ष के पास की है। इतना ही नहीं म्हाडा रिपेयर बोर्ड के अंतर्गत पुनर्रचित मकानों में जिन कर्मचारियों की हाल ही में बदली हुई है, वे कर्मचारी भी अपनी ऊंची पहुंच की बदौलत अपने ही विभाग में टेबल बदली करने में लगे हैं। म्हाडा में ३० मई को ४३३ इंजीनियरों व कर्मचारियों के तबादले किए गए हैं।
राज्य सरकार के गृहनिर्माण विभाग के अंतर्गत म्हाडा, एमएमआरडीए, एसआरए विभाग में मलाईदार पोस्टिंग के लिए लाखों रुपए का चढ़ावा चढ़ाना पड़ता है। म्हाडा में हाल ही में ४३३ इंजीनियरों व कर्मचारियों के तबादले कर दिए गए जो प्रतिवर्ष होता है। इस वर्ष के तबादले को लेकर म्हाडा में कई इंजीनियरों व कर्मचारियों में नाराजगी पैâली हुई है। जो म्हाडा उपाध्यक्ष के कार्यालय में चक्कर मारते नजर आ रहे हैं इनमें अधिकांश इंजीनियर व कर्मचारी ऐसे हैं जिनकी बदली हुए तीन वर्ष भी नहीं हुए उनकी बदली कर दी गई जबकि म्हाडा नियमानुसार तीन वर्ष के बाद ही किसी इंजीनियर व कर्मचारी की बदली की जाती है। म्हाडा रिपेयर बोर्ड विभाग में जिस अधिकारी पर कुछ महीने पूर्व भ्रष्टाचार के चलते उसे और उसके वरिष्ठों की बदली कर दी गई वही पुन: उसी जगह पर अपनी ऊंची पहुंच के चलते विराजमान हो गए और हाल ही में आए कर्मचारियों पर अन्याय कर उन्हें हटा दिया गया है। म्