" /> युद्धपोत और पनडुब्बियों पर तैनात नौसेना के जवान हैं कोरोना से सुरक्षित

युद्धपोत और पनडुब्बियों पर तैनात नौसेना के जवान हैं कोरोना से सुरक्षित

मुंबई के कोलाबा में आईएनएस आंग्रे में नौसेना के कम से कम 26 कर्मी कोविड-9 से संक्रमित बताए जा रहे हैं। भारतीय सशस्त्र बलों में इस बीमारी का यह पहला बड़ा मामला है। हालांकि इन सबके बीच राहत की खबर ये है कि संक्रमण का कोई भी मामला युद्धपोत और पनडुब्बियों पर तैनात जवानों में देखने को नहीं मिला है और सभी सैनिक पूरी तरह से सुरक्षित बताए जा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक सभी संक्रमित नाविक साजोसामान और सहयोग शाखा आईएनएस आंग्रे में सेवारत हैं। बताया जाता है कि ये सभी जवान न तो किसी जहाज में पोस्ट थे और न ही किसी पनडुब्बी में ये सभी जवान एक स्टोरेज विभाग में पोस्ट थे और सभी लोग एक ही जगह रहते थे, जिसकी वजह से वहां कोरोना का संक्रमण फैल गया। नेवी की ओर से जानकारी देते हुए बताया गया है कि नेवी के किसी भी अधिकारी को कोरोना नहीं है।

भारतीय नौसेना के लिए आज खतरे की घंटी उस समय बजी जब सेना के 26 जवान कोरोना पॉ​जिटिव पाए गए। नेवी की ओर से बताया गया है कि ये सभी एक नाविक के संपर्क में आए थे, जिसका 7 अप्रैल को टेस्ट पॉजिटिव आया था। सभी जवानों का मुंबई के कोलाबा स्थित नौसेना के अस्पताल आईएनएचएस अश्विनी में इलाज चल रहा है।