युद्ध हुआ ठंडा तो सोना भी हुआ मंदा

जब युद्ध के बादल मंडराते हैं तो हर आदमी भविष्य के लिए कुछ न कुछ सहेज लेना चाहता है। पुलवामा हमले के बाद हिंदुस्थान-पाकिस्तान के बीच जब तनाव गहराया तो युद्ध की आशंका के बीच लोगों ने सोना खरीदना शुरू कर दिया। सर्राफा बाजार से मिली जानकारी के अनुसार सोने की खरीद से उसकी कीमतों में उफान आ गया और उसने ३४ हजार रुपए का आंकड़ा पार कर लिया। एयर स्ट्राइक के बाद जब हमारा पायलट पाकिस्तानी कब्जे में चला गया तो युद्ध की आशंका काफी बढ़ गई थी। मगर पायलट की सकुशल वापसी के बाद युद्ध का शोर ठंडा पड़ गया और इसके साथ ही सोना की खरीद में भी गिरावट आई जिससे कीमतें फिर नीचे आ गईं।

पुलवामा आतंकी हमले और जवाब में हिंदुस्थान की एयर स्ट्राइक के कारण हिंदुस्थान और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति बन चुकी थी। युद्ध की स्थिति में लोगों ने सोना में निवेश करना ज्यादा बेहतर समझा। इससे सोने की कीमतें उछल गर्इं। बाद में युद्ध के हालात ठंडे होते गए और लोगों ने अपने पैसे निकालने शुरू कर दिए जिससे सोने की कीमतें नीचे आनी शुरू हो गईं।

गत १४ फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में हिंदुस्थान के ४२ जवान शहीद हो गए थे। इससे पूरे देश में आक्रोश पैâल गया और हर हिंदुस्थानी अपने जवानों की मौत का बदला चाहता था। फिर हिंदुस्थानी वायुसेना ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर उन पर बम बरसाए। बौखलाए पाकिस्तान की वायुसेना ने हिंदुस्थान पर हमले की कोशिश कीr। लेकिन हिंदुस्थान ने पाकिस्तान का एक ‘एफ-१६’ मार गिराया। इस दौरान हिंदुस्थानी वायुसेना का एक पायलट अभिनंदन पाकिस्तान की सीमा में जा गिरा जिसे पाकिस्तानी सेना ने बंदी बना लिया। ऐसे में पूरे हिंदुस्थान को लगने लगा था कि अब युद्ध होगा ही। युद्ध के दौरान सभी व्यापारी और नागरिक अपनी जमा पूंजी को बचाने के लिए गोल्ड और सिल्वर में निवेश कर रहे थे। इस दौरान भारी मात्रा में लोगोेंं ने गोल्ड में पैसा लगाया, जिसके चलते एयर स्ट्राइक के एक दिन बाद यानी २७ फरवरी से सोने और चांदी के भाव में भारी मात्रा में उछाल देखने को मिला। २७ फरवरी के बाद से गोल्ड की कीमत प्रति १० ग्राम ३४ हजार ५०० रुपए रुपए तक गई थी, जबकि चांदी की कीमत प्रति किलो ४१ हजार ५०० रुपए गई थी। लेकिन आज की मौजूद स्थिति में युद्ध का माहौल शांत हो गया है। जिसके चलते लोगों ने अपना पैसा निकालना शुरू कर दिया जिससे दाम गिरने शुरू हो गए। पैसे निकालने की वजह से मौजूदा स्थिति में गोल्ड प्रति १० ग्राम ३३ हजार रुपए पर आ गया है जबकि चांदी प्रति किलो ३९ हजार ५०० रुपए पर आ चुका है। गोल्ड और सिल्वर और व्यापार को समझनेवालों का कहना है कि आनेवाले दिनों में गोल्ड और सिल्वर की कीमतों में और भी कमी आएगी।