" /> सरकार के शिकंजे में यूपी के बाहुबली, मुख्तार, अतीक के बाद राजा भइया की बारी!

सरकार के शिकंजे में यूपी के बाहुबली, मुख्तार, अतीक के बाद राजा भइया की बारी!

 दर्जा प्राप्त मंत्री बोले-राजा भइया की हो रही जांच

उत्तर प्रदेश सरकार में दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री सुनील भराला ने कुंडा विधायक पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को माफिया करार दिया है। भराला प्रतापगढ़ में योगी सरकार द्वारा माफिया अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी पर कार्रवाई की चर्चा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने राजा भैया को भी माफिया बताते हुए उनके ऊपर भी शिकंजा कसने की बात कही। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार में राजा भैया पर कार्रवाई की तैयारी चल रही है, अधिकारी जांच कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक माफियाओं की 266 करोड़ रुपए की संपत्ति पर बड़ी कार्रवाई की गई है। मंत्री ने कहा कोई भी गुंडा, माफिया नहीं बचेगा। सुनील भराला श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष और दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री हैं। भराला को कुंडा,  बाबागंज विधानसभा 2022 के चुनाव का प्रभारी भी बनाया गया है। राज्यमंत्री कुंडा पहुंचे थे और बहेरिकपुर स्थित एक कॉलेज में भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस दौरान बूथ सेक्टर और बूथ प्रभारियों के साथ 2017 में मिली हार की समीक्षा भी की। वहीं, माफिया अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बातचीत में कहा कि यूपी में राजा भैया ही नही बल्कि कोई भी गुंडा, माफिया इस सरकार में नहीं बचेगा। भराला ने कहा कि जिन्हें लोग बड़ा कहते थे, हम उनके खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। योगी सरकार के इस दर्जा प्राप्त मंत्री ने राजा भैया के खिलाफ चल रही गोपनीय जांच का पहली बार रहस्योद्घाटन कर सबको चौंका दिया है। जबकि योगी सरकार में ही पिछले दिनों भाजपा सरकार में राजा भैया के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लेने की चर्चा थी। हालांकि, सरकार ने इससे इनकार कर दिया था। सुनील भराला ने कहा कि सरकार राजा भैया की गोपनीय जांच करा रही है। प्रदेश सरकार ने यह संकल्प लिया है कि किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा, चाहे कितना भी बड़ा और असरदार क्यों न हो। जो भी मामले संज्ञान में आ रहे हैं, सरकार उस पर तेजी से काम कर रही है। मंत्री द्वारा राजा भैया को माफिया कहने पर उनके समर्थकों में नाराजगी है।