" /> यूपी में प्रति दस लाख 16-17 व्यक्ति कोरोनाग्रस्त!

यूपी में प्रति दस लाख 16-17 व्यक्ति कोरोनाग्रस्त!

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से प्रभावित 9 बड़े राज्यों की तुलना में प्रति 10 लाख की आबादी पर मात्र 16-17 (16.29)  लोगों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस पाए जा रहे हैं। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, तमिलनाडु, राजस्थान, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब और पश्चिम बंगाल में प्रति 10 लाख की आबादी पर संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या यूपी के मुकाबले कहीं ज़्यादा हैं। माना जा रहा है कि ये तथ्य अन्य प्रदेशों में ज्यादा जांचें होने के सामने आए हैं।

कुल जांचें होने के मामले में यूपी देश में पांचवें स्थान पर है। प्रति 10 लाख की आबादी के हिसाब से सबसे ज़्यादा लोग दिल्ली में संक्रमित हो रहे हैं। यहां दस लाख की आबादी में 403.65 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में दस लाख की आबादी में 199.97, गुजरात में 131.06, तमिलनाडु में 115.17, पंजाब में 64.10, राजस्थान में 54.53, मध्य प्रदेश में 48.47, आंध्र प्रदेश में 40.92, पश्चिम बंगाल में 22.42 हैं। सबसे नीचे यूपी का स्थान हैं, जहां पर 10 लाख की आबादी पर 16.29 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

कोविड-19 उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिले कोरोना वायरस से प्रभावित, 3758 आंकड़ा पहुंच चुका है।कोरोना के जहर सबसे कम वृद्धि दर यूपी में है। पिछले एक सप्ताह में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा होने के मामले में भी यूपी की स्थिति काफी अच्छी है। यूपी की ग्रोथ रेट 3 फीसदी हैं। यूपी के बराबर ग्रोथ रेट वाले राज्य केवल राजस्थान और आंध्र प्रदेश हैं। यहाँ पर भी ग्रोथ रेट 3-3 फीसदी है। कई राज्यों में ग्रोथ रेट यूपी से कहीं ज़्यादा है। इनमें सबसे ज़्यादा ग्रोथ रेट तमिलनाडु में 12 फीसदी है। पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र 7-7 फीसदी, दिल्ली और गुजरात 5-5 फीसदी और मध्य प्रदेश और पंजाब 4-4% ग्रोथ रेट हैं।उत्तर प्रदेश समेत दस बड़े राज्यों में हुई  टेस्टिंग का ब्योरा (12 मई तक)  तमिलनाडु 2,66,687, महाराष्ट्र 2,31,061, आंध्र प्रदेश 1,91,874, राजस्थान1,85,610, उत्तर प्रदेश 1,40,166, गुजरात1,19,536, दिल्ली 1,13,343, मध्य प्रदेश 80,885, पश्चिम बंगाल 52,622  और पंजाब  47,999 टेस्ट हुए थे।