" /> यूरोप ने फैलाया, बीजिंग में कोरोना!, चीनी विशेषज्ञों का दावा

यूरोप ने फैलाया, बीजिंग में कोरोना!, चीनी विशेषज्ञों का दावा

बीजिंग में तेजी से पांव पसार रहे कोरोना वायरस हो सकता है कि यूरोप से आया हो। स्थानीय अधिकारियों ने चीनी वैज्ञानिकों द्वारा थोक बाजार ‘शिनफादी’ से उठाए गए नमूनों के जीनोम अनुक्रम को जारी करने के बाद यह जानकारी दी। अभी हाल में कोरोना के जितने मामले सामने आए हैं, उनमें से अधिकतर ‘शिनफादी’ बाजार से ही जुड़े हैं। चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के एक सहायक निदेशक झांग योंग ने कहा कि प्रारंभिक आनुवांशिक (जीनोम) अनुक्रमण अनुसंधान से पता चलता है कि यह वायरस यूरोप से आया है।
सीडीसी निदेशक गाओ फू ने हाल ही में कहा था कि मई की शुरुआत में वायरस बीजिंग में फैलान शुरू कर सकता है। सीडीसी ने कहा कि जीनोम अनुक्रमण के बारे में गुरुवार देर रात को डब्ल्यूएचओ और ग्लोबल इन्फ्लुएंजा डेटा इनीशिएटिव (जीआईएसएआईडी) के साथ साझा किया गया था। दूसरी ओर, चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 37 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से 25 मामले देश की राजधानी बीजिंग से हैं। राजधानी में अभी 183 संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है और सरकार ने यहां कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए युद्ध स्तर पर कदम उठाए हैं।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयेाग (एनएचसी) ने बताया कि देश में गुरुवार (18 जून) को सामने आए 37 नए मामलों में से 28 घरेलू स्तर पर फैले मामले हैं। इसके अलावा विदेश से आए चार लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं पांच लोग बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए। उसने बताया कि घरेलू स्तर पर फैले मामलों में 25 मामले बीजिंग, दो हेबेई प्रांत और एक मामला लियाओनिंग प्रांत में सामने आया है। आयोग के अनुसार गुरुवार को कोविड-19 से किसी की जान नहीं गई। उसने बताया कि गुरुवार को बिना किसी लक्षण के पांच लोग संक्रमित पाए गए। ऐसे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 110 हो गई हैं, जिनमें बीमारी के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं। इनमें से 60 लोग विदेश से आए हैं। ये सभी चिकित्सकीय निगरानी में हैं।

नगरपालिका स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार (19 जून) को बताया कि बीजिंग के थोक बाजार ‘शिनफादी में नए मामले सामने आने के बाद यहां आंशिक लॉकडाउन लागू है। यहां गुरुवार को घरेलू स्तर पर फैले 25 नए मामले सामने आए हैं और दो लोग बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए। एनएचसी ने बताया कि चीन में अभी तक 83,325 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 293 लोगों का इलाज जारी है। इनमें से 13 लोगों की हालत गंभीर है। उसने बताया कि 78,398 ठीक हो चुके हैं और 4,634 लोगों की इससे जान चली गई। पिछले साल दिसम्बर में वुहान से ही यह घातक वायरस फैलना शुरू हुआ था।