येऊर का पहाड़ बनेगा पर्यटन स्थल

पिछले कई वर्षों से येऊर के पहाड़ की प्राकृतिक सुंदरता ने ठाणे शहर में चार चांद लगाने का काम किया है। इन्हीं सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ठाणे मनपा ने येऊर के पहाड़ को पर्यटन स्थल बनाने का प्रस्ताव पेश किया है, जिसे वन विभाग के समक्ष भी पेश किया जा चुका है। कागजी कार्रवाई के बाद दो महीनों के भीतर पर्यटन स्थल बनाने का कार्य शुरू किया जाएगा।
बता दें कि ठाणे का येऊर का पहाड़ी क्षेत्र जो कि आज भी प्रदूषण और कंक्रीट के जंगल से बचा हुआ है। यह शहर से करीब १,६०० फुट की ऊंचाई पर बसा है परंतु यहां पर पर्यटकों के आकर्षण के लिए हरियाली और पहाड़ों के अलावा कुछ भी नहीं है। ऐसे में इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की मांग यहां के स्थानीय विधायक प्रताप सरनाईक पिछले पांच वर्षों से करते आ रहे हैं। अब जाकर उन्हें यह सफलता मिली है और अब मनपा प्रशासन तथा वन विभाग मिलकर पर्यटन केंद्र का निर्माण करेंगे। यहां पर पर्यटकों व स्कूली विद्यार्थियों को आकर्षित करने के लिए केंद्र का निर्माण किया जानेवाला है। साथ ही इस केंद्र के माध्यम से यहां के आदिवासियों को एक अलग दिशा भी मिलनेवाली है क्योंकि मूल आदिवासी संस्कृति की जानकारी लोगों को मिले इसके लिए आदिवासी संस्कृति कला केंद्र का निर्माण किया जाएगा। साथ ही पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न प्रकार के ऐडवेंचर स्पोर्ट्स, स्कूली विद्यार्थियों के लिए देखने हेतु पशु, पक्षी, वनस्पति आदि का विकास किया जाएगा। इसके अलावा एक तालाब का भी निर्माण किया जाएगा। इस तालाब में बोटिंग की सुविधा भी पर्यटकों के लिए उपलब्ध कराई जाएगी।