येरवडा फॉर्म हाउस!

 सब्जी, केला, आम का रिकॉर्ड उत्पादन
 कैदियों ने कमाए रु. ६८ लाख
पुणे का येरवडा जेल इन दिनों फॉर्म हाउस में तब्दील हो गया है। इस वर्ष येरवडा जेल के वैâदियों ने ३५ एकड़ जमीन पर खेती करके विभिन्न चीजों का उत्पादन करके ६८ लाख रुपए की कमाई की है। येरवडा जेल में करीब २७० एकड़ खेती का क्षेत्र है, जिसमें मात्र ३५ एकड़ क्षेत्र में वैâदियों ने आम, केला, सब्जी, धान आदि की खेती की थी। इसकी पैदावार से ६८ लाख रुपए की कमाई जेल प्रशासन को हुई है और यह खेती पूरी तरह से नियोजनबद्ध तरीके से की गई थी। पिछले साल की तुलना में इस वर्ष खेती के उत्पादन में दोगुना वृद्धि हुई है। पिछले साल केवल ३१ लाख रुपए का उत्पादन येरवडा जेल में खेती से हुआ था जबकि इस साल यह उत्पादन ६८ लाख रुपए तक पहुंचा गया है। सूखे के बाद येरवडा जेल में वैâदियों ने अधिकारियों की मदद से पानी का नियोजन करके खेती को उच्च स्तर पर पहुंचाया है। इसकी चारों तरफ सराहना की जा रही है। गौरतलब हो कि एकाध अपराध की घटना के बाद आरोपी को जेल की चहारदीवारी के अंदर जाना पड़ता है। बाहर की दुनिया से उसका संबंध टूट जाता है। जेल के अंदर रहते हुए वैâदियों के व्यवहार में सुधार हो और छूटने के बाद उसका पुनर्वसन हो, इसके लिए जेल के अंदर विभिन्न योजनाएं चलाई जाती हैं। येरवडा जेल के वैâदियों से खेती के अलावा लॉन्ड्री हथकरघा, सुतार का काम चित्रकला जैसे कुल १५-१६ प्रकार के काम जेल विभाग की ओर से कराए जाते हैं।