" /> ये ठीक नहीं होगा!

ये ठीक नहीं होगा!

टीम इंडिया के लिए अलग अलग कप्तानों को लेकर जारी बहस पर अपना रुख साफ करते हुए पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने कहा कि ‘एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में दो सीईओ नहीं हो सकते’। रोहित शर्मा की अगुआई में मुंबई इंडियन्स के पांचवां इंडियन प्रीमियर लीग खिताब जीतने के बाद से राष्ट्रीय टीम के अलग अलग कप्तानों को लेकर बहस बढ़ गई है और कई पूर्व खिलाड़ियों ने सुझाव दिया है कि इस सलामी बल्लेबाज को कम से कम टी२० टीम की कप्तानी सौंपी जाए। विराट कोहली फिलहाल तीनों फॉर्मेट में भारतीय टीम की अगुआई करते हैं। कपिल नेऑनलाइन आयोजित ‘एचटी लीडरशिप समिट’ में कहा, ‘हमारी संस्कृति में इस तरह नहीं हो सकता। क्या एक कंपनी में आप दो सीईओ बनाते हो? नहीं। अगर कोहली टी२० खेल रहा है और वह अच्छा है तो उसे बने रहने दीजिए। हालांकि मैं देखना चाहता हूं कि अन्य खिलाड़ी भी आगे आएं। लेकिन यह मुश्किल है।’ उन्होंने कहा, ‘सभी प्रारूपों में हमारी ७० से ८० प्रतिशत टीम समान है। उन्हें अलग अलग विचारों वाले कप्तान पसंद नहीं है। अगर आप दो कप्तान रखोगे तो खिलाड़ी सोच सकते हैं कि वह टेस्ट में मेरा कप्तान होगा। मैं उसे नाराज नहीं करूंगा।’