ये दुनिया ये महफिल मेरे काम की नहीं

बारबालाओं के चक्कर में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। मीरा रोड के भी एक बिजनेसमैन ने जया नामक बारबाला के लिए जान दे दी और कहा कि कई युवतियां अपनी बदकिस्मती को दर किनार करते हुए बारबाला बनकर अपनी किस्मत बदलने का काम करती हैं। ये बारबालाएं अक्सर अपने ग्राहकों से प्यार तो दर्शाती हैं लेकिन सच्चा प्यार वे हर किसी से नहीं करती हैं। जब कोई ग्राहक किसी बारबाला से एकतरफा प्यार करता है तो उसे उसकी कीमत कभी-कभी अपनी जान देकर चुकानी पड़ती है। बारबाला जया का एक ऐसा आशिक बना कि उसके चक्कर में वह ५० लाख का कर्जदार हो गया। साहूकार अपना पैसा वापस मांगते रहे और जया अपने अगले नए ग्राहक के साथ व्यस्त हो गई थी। यह बेवफाई बर्दास्त न कर पाने की हालत में दीपक झा ने अपनी जान दे दी।
बता दें कि मीरा रोड-पूर्व के सृष्टि इलाके में क्लिक डील होम प्राइवेट लिमिटेड के पार्टनर दीपक झा अकसर डांस बार में जाता था। काशीमीरा के एक डांस बार में काम करनेवाली जया से दीपक को प्यार हो गया। डांस बार के चक्कर में दीपक कर्जदार हो गया। जहां कर्ज चुकाना मुश्किल लग रहा था, वहीं जया भी दीपक से कन्नी काटने लगी थी और अन्य ग्राहक से सटने लगी। दीपक यह भूल गया कि वह डांस बार में काम करनेवाली उस बारबाला से प्यार कर बैठा, जिसका काम सबको खुश रखना है। दीपक ने मीरा रोड के फायनतन होटल के सामने बने वर्सोवा पुल से कूदकर अपनी जान दे दी। जान देने से पहले दीपक ने साफ-साफ अपने मोबाइल स्टेटस पर लिखा था कि ‘आप मुझे दूसरी दुनिया में मिलो, अब यह दुनिया मेरे लिए नहीं।’
(क्रमश:)