योगी को राजभर ने दी खुली चुनौती मुझे कैबिनेट से बाहर निकालकर दिखाएं!

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के अध्यक्ष और यूपी के वैâबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उन्हें वैâबिनेट से बाहर निकालने की खुली चुनौती दी है। राजभर काफी वक्त से भाजपा से नाराज चल रहे हैं और वे प्रदेश सरकार के साथ गठबंधन तोड़ने की धमकी दे रहे हैं।
राजभर २०१९ के लोकसभा चुनाव से पहले ओबीसी के लिए उप-कोटा लागू करने की मांग कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि यूपी में भाजपा की सरकार को २२ महीने हो गए हैं। मैं योगी आदित्यानाथ को चुनौती देता हूं कि मुझे वैâबिनेट से बाहर निकालकर दिखाएं। मैं गरीबों के लिए अपनी लड़ाई जारी रखूंगा। मैं ७२ साल का अकेला मंत्री हूं जो मुख्यमंत्री के खिलाफ लड़ रहा हैं। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्ववाली सरकार के प्रमुख सहयोगी ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि मैं किसी खनन पट्टे की मांग नहीं कर रहा हूं, मैं सिर्फ ओबीसी और दलितों के लिए कुछ व्यवस्था करने के लिए कह रहा हूं। अगर आप पूर्वी और मध्य यूपी की तरफ जाते हैं तो आपको पता चलेगा कि सरकार की हालत काफी खराब है। मैंने २४ फरवरी तक का समय दिया है, इसके बाद मैं कुछ ठोस निर्णय लूंगा। राम मंदिर के मुद्दे पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग सत्ता में हैं, वे राम मंदिर बनाने के लिए जिम्मेदार हैं। गरीबों को यह पता नहीं है कि ये लोग लखनऊ और दिल्ली में सत्ता हासिल करने में अधिक रुचि रखते हैं। लोगों को जान-बूझकर मंदिर-मस्जिद के मुद्दों में उलझाया जा रहा है। सरकार कुंभ मेले पर ५,००० करोड़ रुपए खर्च कर सकती है लेकिन राज्य में शिक्षा के बुनियादी ढांचे पर खर्च करने के लिए पैसा नहीं लगाया जाता है।