" /> रंजिश में पूरे परिवार को पहुंचाया अस्पताल, कपासवाड़ी में कोहराम

रंजिश में पूरे परिवार को पहुंचाया अस्पताल, कपासवाड़ी में कोहराम

अंधेरी-पश्चिम स्थित कपासवाड़ी इलाके में भीड़ की हैवानियत का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां पुरानी रंजिश के कारण कुछ लोगो ने एक गैरेज मालिक एवं उसके परिजनों पर हमला कर दिया। गैरेज में खड़े एक वाहन का कांच टूटने के बाद हुए विवाद में भीड़ ने उक्त परिवार के आधा दर्जन से अधिक लोगों को पीट-पीटकर अस्पताल पहुंचा दिया। मार खानेवालों में एक ७० वर्षीय वृद्धा, उसके बेटे, बहुएं एवं पोते-पोतियां शामिल हैं।
बता दें कि अंधेरी-पश्चिम की कपासवाड़ी बस्ती स्थित शिवाजी नगर चाल में रवि आचार्य अपनी मां, पत्नी, बड़ा भाई-भाभी व बच्चों के साथ रहता है। पेशे से गैरेज मालिक रवि ५ मार्च की रात साढ़े ८ बजे के दरम्यान अपनी मां व भतीजे के साथ खड़ा होकर बात कर रहा था, तभी क्रिकेट स्टंप, रॉड, बेस
बॉल के बल्ले आदि से लैस १५ से २० लोगों ने उन पर हमला कर दिया। शोर सुनकर बीच-बचाव के लिए वहां पहुंचे रवि की पत्नी, बड़े भाई, भाभी व परिवार के अन्य सदस्यों को भी हमलावरों ने नहीं बख्शा। बाद में जब रवि के मुहल्लेवालों ने ललकारा तब हमलावर वहां से भागे। मुहल्लेवालों ने गंभीर रूप से घायल रवि, पत्नी शुभलक्ष्मी, ७० वर्षीया मां देवी आचार्य, भतीजे मोहन आचार्य, भाई राजेश, वैâलास माली, राजेश अचारी, सर्वाना अचारी और सेल्वी अचारी आदि को कूपर अस्पताल पहुंचाया, वहां गंभीर रूप से जख्मी रवि को आईसीयू वॉर्ड में भर्ती करना पड़ा, जबकि मोहन, सुब्बलक्ष्मी एवं देवी के हाथ-पैर में प्रâेक्चर की शिकायत सामने आई। इस विवाद में डीएन नगर पुलिस ने ५ लोगों को आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है लेकिन पीड़ित परिवार ने अन्य आरोपियों का नाम एफआईआर में दर्ज नहीं किए जाने पर एतराज जताया है। पुलिस की अधूरी कार्रवाई से पीड़ित परिवार अपनी सुरक्षा के प्रति आशंकाग्रस्त है। पीड़ित परिवार ने संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर शेष हमलावरों का नाम एफआईआर में शामिल करने तथा उन्हें जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।