रडार पर रेव!, हुस्न का हनीट्रैप तोड़ेगी पुलिस

वर्ष २०१८ अपने आखिरी दौर में पहुंच चुका है। नए साल के स्वागत में शराब, शबाब और ड्रग्स के साथ जश्न मनाना आम बात हो गई है। नए साल पर रेव पार्टी का आयोजन भी कई स्थानों पर होता है। नशीले रेव पार्टी में ड्रग्स की आपूर्ति अक्सर हसीनों के जरिए की जाती है। इस बार इस हनीट्रैप को तोड़ने के लिए मुंबई पुलिस ने कमर कस ली है। दिल्ली पुलिस ने तो एक मॉडेल अश्वथी बाबू को इस सिलसिले में गिरफ्तार भी कर लिया है। शहर में नववर्ष पर आयोजित की जानेवाली रेव पार्टी अभी से पुलिस के रडार पर है।
नशे के सौदागर अपने लाभ के लिए नववर्ष के जश्न को नशीला व जहरीला बनाने का प्रयास करते हैं। इन पार्टियों में हसीन मॉडलों एवं अभिनेत्रियों को बुलाया जाता है ताकि अमीर लोग इन पार्टियों में शिरकत करें और पार्टी के आयोजक ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सकें। नव वर्ष की पूर्व संध्या पर आयोजित होनेवाली ऐसी रेव पार्टियों पर पुलिस खासतौर पर नजर रखती है। फिल्मी सितारों तथा रईसजादों की रेव पार्टियां इस बार भी मुंबई पुलिस और उसकी सभी यूनिटें (क्राइम ब्रांच, एंटी नार्कोटिक्स सेल) के रडार पर है। नशे के सौदागरों द्वारा बिछाए जानेवाले हुस्न के हनीट्रैप को तोड़ने के लिए पुलिस ने अपने खबरियों को विशेष तौर पर तैनात कर रखा है। बता दें कि दिल्ली में ड्रग्स तस्करी के मामले में एक मलयाली अभिनेत्री व उसके ड्राइवर की गिरफ्तारी के बाद मुंबई में भी पुलिस सतर्क हो गई है। त्रिकक्करा पुलिस ने अभिनेत्री अश्वथी बाबू को मादक पदार्थ रखने के आरोप में उनके ड्राइवर के साथ गिरफ्तार किया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार दिल्ली में घटी इस घटना के बाद मुंबई पुलिस और भी सतर्क हो गई है। एएनसी से जुड़े एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि नशे के सौदागर वैसे तो साल भर नशे के कारोबर में सक्रिय रहते हैं। उनके सिंडिकेट को तोड़ने के लिए पुलिस भी अपने स्तर पर प्रयास करती है लेकिन नववर्ष जैसे बड़े मौकों पर पुलिस और ज्यादा सतर्कता बरतती है। क्योंकि इसके लिए नशीले पदार्थों की खेप एकत्रित करने और तय ठिकाने पर पहुंचाने का काम महीने भर पहले ही शुरू हो जाता है।
मुंबई पुलिस की विभिन्न यूनिटों ने हाल के दिनों में पार्ट ड्रग्स के नाम से मशहूर नशीले पदार्थों के साथ कई तस्करों को गिरफ्तार किया है। नववर्ष पर आयोजित होनेवाली रेव पार्टियों के लिए पुलिस इंटरनेट, वेबसाइट और सोशल मीडिया के जरिए सांकेतिक भाषा में भेजे जानेवाले संदेशों पर भी खासतौर पर नजर रख रही है। इसके अलावा पुलिस मुंबई व आसपास के इलाकों में स्थित बड़े होटलों, लॉजों, बंगले एवं फार्म हाउसों में आयोजित होनेवाली पार्टियों पर विशेष नजर रख रही है।