" /> रसद कंपनी के गोदाम में छिपाया था नीरव ने हीरा : ईडी ने किया कब्जा

रसद कंपनी के गोदाम में छिपाया था नीरव ने हीरा : ईडी ने किया कब्जा

धनशोधन मामले में नीरव और चोकसी की हो रही है जांच

देश के एक प्रमुख बैंक (पंजाब नेशनल बैंक) को लगभग 14 हजार करोड़ रुपए का चूना लगानेवाले नीरव मोदी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को बड़ी सफलता हासिल की। उक्त पीएनबी महाघोटाला मामले में केंद्रीय एजेंसी, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी से संबंधित फर्मों के 1,350 करोड़ रुपये मूल्य के 2,300 किलोग्राम से अधिक तराशे हुए हीरे-मोती और आभूषण हांगकांग से वापस लाने में सफल हुई। यह सामान हांगकांग में एक रसद कंपनी के गोदाम में रखा गया था, जिसे औपचारिकता के बाद वापस लाया गया। मुंबई में उतरने वाली 108 खेपों में से 32 नीरव मोदी द्वारा ‘नियंत्रित’ यूएई और हांगकांग में विदेश संस्थाओं से संबंधित हैं जबकि बाकी मेहुल चोकसी की फर्मों से हैं।

ईडी इन दोनों व्यवसायियों से मुंबई में पीएनबी की एक शाखा में दो अरब अमेरिकी डॉलर की कथित बैंक धोखाधड़ी के सिलसिले में धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत जांच कर रहा है। एजेंसी ने बताया कि इन कीमती सामानों में पॉलिश किए गए हीरे, मोती और चांदी के आभूषण शामिल हैं और इनकी कीमत करीब 1,350 करोड़ रुपए है। ईडी ने इन कीमती सामान को वापस लाने के लिए हांगकांग में अधिकारियों के साथ ‘सभी कानूनी औपचारिकताओं’ को पूरा किया।अधिकारियों ने बताया कि 2018 की शुरूआत में इन मूल्यवान सामान को दुबई से हांगकांग ले जाया गया था ताकि उन्हें ईडी या किसी अन्य जांच एजेंसी द्वारा जब्त करने या कुर्क करने से बचाया जा सके। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बताया कि अधिकारी इन मूल्यवान सामान को भारत वापस लाने के लिए हांगकांग में विभिन्न अधिकारियों से लगातार बातचीत कर रहे थे। सभी कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद इन खेपों को वापस भारत लाया गया।’

गौरतलब हो कि इससे पहले भी नीरव मोदी मेहुल चौकसी के 33 कंसाइंमेंट दुबई-हांगकांग से जब्त किए जा चुके हैं। इनकी कीमत 137 करोड़ रुपए थी। बता दें, नीरव मोदी इस समय लंदन की जेल में बंद है जबकि मेहुल चौकसी एंटिगा की नागरिकता लेकर वहीं छिपा हुआ है। 8 जून को मुंबई की स्पेशल PMLA कोर्ट नीरव मोदी की 1400 करोड़ की संपत्ति जब्त करने के आदेश दे चुकी है। हालांकि अदालत ने केवल उन्हीं संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश दिया है, जो बैंक के पास गिरवी नहीं रखी गई हैं लेकिन विशेष अदालत ने निदेशालय को मोदी के मालिकाना हक वाली आयकर विभाग द्वारा जब्त की गई पेंटिंग को कुर्क करने की अनुमति नहीं दी। विशेष अदालत ने कहा कि ईडी के पास छूट है कि वह आयकर विभाग के नियंत्रण वाली पेंटिंग हासिल करने के लिए कानूनी उपाय करे। नीरव मोदी (49) वर्तमान में ब्रिटेन की जेल में बंद हैं। मोदी को वहां मार्च 2019 में लंदन में गिरफ्तार किया गया था। हिंदुस्थान उनके खिलाफ वहां की अदालत में प्रत्यपर्ण की कानूनी लड़ाई लड़ रहा है।