राज्य में धीरे-धीरे बढ़ेगी गर्मी, मुंबईकरों को राहत

राज्य में अब गर्मी का कांटा धीरे-धीरे और बढ़ेगा, खासकर मराठवाड़ा और विदर्भ में। पहले बिन मौसम बरसात ने किसानों पर कहर ढाया और अब बरसात होने के बाद सूर्य का प्रकोप लोगों पर बरसेगा। मुंबईकरों के लिए राहत की बात यह है कि शहर के तापमान में कोई वृद्धि नहीं होगी।
बता दें कि राज्य के कई भागों में अचानक हुई बरसात के बाद तापमान में वृद्धि दर्ज की गई है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो उक्त क्षेत्र में धूप के चटके और लगेंगे। मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और विदर्भ में ४ और ५ अप्रैल से ही गर्मी ने जोर पकड़ लिया है। कई स्थानों पर पिछले १० से १५ दिनों में तापमान ४० डिग्री के पार ही चल रहा है। विदर्भ, वर्धा में पारा ४३ डिग्री सेल्सियस के पार चला गया है। पुणे में ४० डिग्री तो मराठावाड़ा के बीड में ४१ डिग्री सेल्सियस तक पारा पहुंच गया है। मौसम का आकलन करनेवाली संस्था `स्काई मेट’ के चीफ मेट्रोलॉजिस्ट महेश पलावत ने कहा कि मध्य महाराष्ट्र पर एक टर्फ लाइन बनी हुई थी, जिसके चलते विदर्भ और मराठवाड़ा में अकस्मात बरसात हुई थी। अब टर्फ लाइन आंध्र प्रदेश की ओर बढ़ गई, जिसके बाद एक फिर उक्त क्षेत्र में तापमान धीरे-धीरे बढ़ेगा। अच्छी बात यह है कि मुंबई में समुद्री हवा जल्द सेट हो जा रही है, जिससे शहर के तापमान में इजाफा नहीं हो पा रहा है। फिलहाल ४ से ५ दिनों तक मुंबईकरों को भीषण गर्मी से राहत मिलेगी। क्षेत्रीय मौसम विभाग के मुताबिक कल शहर का तापमान ३३.२ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जबकि उपनगर में पारा ३३ डिग्री दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो जब तक उत्तरपूर्व से आनेवाली गर्म हवाएं जोर नहीं पकड़ती हैं तब तक मुंबई के तापमान में कोई वृद्धि नहीं होगी।