" /> राज्य में लॉक डाउन तोड़नेवाले 50 हजार लोगों खिलाफ पुलिस ने किया मामला दर्ज : 1 करोड़ 82 लाख वसूला जुर्माना

राज्य में लॉक डाउन तोड़नेवाले 50 हजार लोगों खिलाफ पुलिस ने किया मामला दर्ज : 1 करोड़ 82 लाख वसूला जुर्माना

पुलिस पर हुए 102 हमले
162 हमलावर गिरफ्तार
देश में सबसे अधिक महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप बना हुआ है, इसके बाद भी राज्य के लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। वे लॉक डाउन के नियमों को तोड़ रहे हैं और इसके बदले में उनके खिलाफ पुलिस को कार्रवाई करनी पड़ रही है। महाराष्ट्र पुलिस लॉक डाउन का उल्लंघन करनेवालों से अब तक जुर्माने के रूप में 1 करोड़ 83 लाख 76 हजार 744 रुपए  वसूली कर चुकी है।
लॉक डाउन के नियम तोड़नेवालों के खिलाफ 49,756 मामले दर्ज किए गए हैं। ये मामले भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दर्ज किए गए हैं, जो मुख्य रूप से ‘लोक सेवक के आदेश की अवज्ञा’ के लिए है। लॉक डाउन तोड़ने के कारण अब तक यानी 17 अप्रैल तक महाराष्ट्र में 10,276 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 32,424 वाहनों को जप्त किया गया है। 70,307 लोगों ने 100 नंबर फोन का उपयोग किया है। 555 लोंगो को आइसोलेशन में भेजा गया है। 1,044 वाहनों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं। सात पुलिस अधिकारियों व 23 पुलिसकर्मियों में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। लॉक डाउन के दौरान पुलिस पर 102 हमले हुए है। इन हमलों में 162 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उक्त जानकारी पुलिस महानिदेशक कार्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति  में दी गई है।
वास्तव में 555 केस उन लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए हैं, जिन्होंने क्वारंटाइन होने का वादा किया था लेकिन उसका उल्लंघन किया। राज्य में अलग- अलग घटनाओं में 102 पुलिसकर्मियों पर हमले के आरोप में अब तक 162 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
वीजा उल्लंघन के भी मामले दर्ज
महाराष्ट्र में भी वीजा उल्लंघन के भी 15 मामले दर्ज किए गए हैं। फॉरेनर्स एक्ट के तहत दर्ज ये मामले ज्यादातर मुंबई और नगर में हैं। इन दोनों जगहों पर तीन-तीन मामले दर्ज किए गए। अमरावती में 2 मामले हैं, जबकि पुणे, नागपुर, ठाणे, चंद्रपुर गढ़चिरौली, नई मुंबई और नांदेड़ में 1-1 मामले हैं। वीजा उल्लंघन के इन 15 मामलों में 156 आरोपी हैं।