" /> रामकाज के लिए कोर्ट जो भी फैसला सुनाएगा वो मंजूर होगा-संतोष दुबे

रामकाज के लिए कोर्ट जो भी फैसला सुनाएगा वो मंजूर होगा-संतोष दुबे

अयोध्या। बाबरी विध्वंस फैसले की तारीख मुकर्रर होने के बाद बाबरी विध्वंस के आरोपी  संतोष दुबे ने कहा कि कोर्ट जो भी फैसला सुनाएगा वो मंजूर होगा जिसमें मृत्युदंड भी मंजूर होगा।
दुबे ने कहा कि अपने किए पर कोई उन्हें कोई पछतावा नहीं है, हमने  ही गिराई थी बाबरी मस्जिद। यह राम का कार्य था उसको किया और अब उसी जगह पर भव्य राम मंदिर बनेगा। 30 सितंबर को जो भी फैसला आएगा स्वीकार होगा वह सिर माथे पर रहेगा।
संतोष दुबे ने कहा कि बाबरी मस्जिद गिराने वाले हमारे कुछ साथी इस दुनिया में नहीं हैं। हम भाग्यशाली हैं कि मस्जिद गिराने के बाद अब राम मंदिर बनने का सपना पूरा होने जा रहा है । पृथ्वी पर मेरा आना सफल हो गया है। मैंने जो कुछ भी किया राम काज किया। 30 सितंबर को अदालत बाबरी विध्वंस मामले पर 27 साल बाद फैसला देने जा रही है।