राम मंदिर नहीं बनाना भाजपा का घोर छलावा, जगद्गुरू रामभद्राचार्य ने किया उद्धव ठाकरे का समर्थन

कल्याण-पूर्व में राम कथा करने आए जगद्गुरू स्वामी राम भद्राचार्य ने राम मंदिर को लेकर शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे का पुरजोर समर्थन किया है। स्वामी राम भद्राचार्य ने कहा कि भाजपा को सत्ता में आए साढ़े चार वर्ष बीत गए किंतु कभी भी भाजपा ने राम मंदिर बनाने की पहल नहीं की। भाजपा का हिंदुओं के प्रति यह घोर छलावा है। ऐसे में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने ‘पहले मंदिर, फिर सरकार’ का जो नारा दिया है, वह बिल्कुल सही है। स्वामी जी ने हनुमान जी पर योगी आदित्य नाथ द्वारा की गई जातीय टिप्पणी का भी खंडन किया और कहा कि उनका बयान शास्त्रोक्त नहीं है। हनुमान जी आर्य थे। इसका प्रमाण रामायण में तीन जगह उल्लिखित है। स्वयं सीता जी ने हनुमान जी को आर्य कहा है।

स्वामी राम भद्राचार्य ने ११ जनवरी तक राम मंदिर पर पैâसला आने की उम्मीद भी जताई और कहा कि वह पैâसला सर्वमान्य होगा, जिससे मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर को विवाद का विषय नहीं बनाना चाहिए। विदित हो कि उक्त राम कथा श्री राघव संस्थान के अध्यक्ष सभाजीत मिश्रा व उपाध्यक्ष विजय उपाध्याय की देखरेख में हो रहा है।