राम मंदिर बनाएंगे, देश मजबूत करेंगे -उद्धव ठाकरे की हुंकार

हमने युति की है। हमारे में समान विचार है, भगवा है। हिंदुत्व ही राष्ट्रीयता, यह हमारा विचार है जो शिवसेनाप्रमुख ने हमें दिया है। समविचार के लोग एक साथ आए हैं। देव, देश और धर्म के लिए हमने युति की है। अयोध्या में राम मंदिर बनाएंगे ही देश में विकास की बयार बहाएंगे, देश को मजबूत करेंगे और धर्म जो संत गाडगे ने बताया भूखे को अन्न, प्यासे को पानी और बेघरों को घर देते हैं यही हमारा धर्म है। हिंदुत्व ही हमारी राष्ट्रीयता है और यही हिंदुत्व में सिखाया गया है। ऐसी हुंकार शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने भरी।
कल मुंबई के बीकेसी मैदान में शिवसेना-भाजपा महायुति की विशाल सभा आयोजित की गई थी। इस सभा को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर राहुल गांधी, शरद पवार, ममता बनर्जी, महबूबा मुफ्ती पर अपनी तोप दागी। सभा में उमड़े जनसैलाब को देखते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि इस दृश्य को आंखों में समाहित कर लेना चाहिए। आज इस सभा में महायुति के सभी नेता एक साथ एक मंच पर मौजूद हैं लेकिन हमें हराने के लिए बने ५६ दल के नेता कभी भी एक साथ मंच पर नहीं दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का गर्व है कि महायुति की विशाल सभा महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में हो रही है। विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन के नेता कभी एक मन से एक साथ मंच पर नहीं आए, वे क्या एक साथ सरकार चलाएंगे? जो चुनावी अखाड़े में एक साथ नहीं दिखाई दे रहे हैं वे देश के लिए एक साथ क्या लड़ेंगे? उद्धव ठाकरे के इस सवाल पर उपस्थित जनसमुदाय ने ‘न’ में जवाब दिया। यह चुनाव देश का है। मैं हमेशा आपको और कांग्रेस-राकांपा समर्थकों से कहता हूं कि महायुति और महागठबंधन का घोषणा पत्र देखें। एक तरफ हम नरेंद्र भाई के साथ मजबूती से खड़े हैं क्योंकि हमें पता है कि अगर पाकिस्तान ने देश पर हमला किया तो पाकिस्तान की कमर तोड़नेवाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। उन्होंने सिर्फ कहा ही नहीं बल्कि दो बार पाकिस्तान में घुसकर उन्हें सबक भी सिखाया। कांग्रेस के घोषणा पत्र का पंचनामा करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनके घोषणा पत्र में देशद्रोह की धारा हटाने की बात कही गई है। इन्हें किसका वोट चाहिए? इनके साथ कौन-कौन है? कश्मीर को हिंदुस्थान से अलग करने की मंशा रखनेवाली महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला और बंगाल में वोट के लिए बांग्लादेशी कलाकार का प्रचार करानेवाली ममता बनर्जी। दूसरी तरफ जेएनयू में देश के टुकड़े करने का नारा देनेवाले घूम-घूमकर चुनाव में हो-हल्ला कर रहे हैं, ऐसे देशद्रोहियों को फांसी नहीं दें तो क्या इन्हें दूध पिलाएं? हमारी भारत माता और मिट्टी से गद्दारी करनेवालों पर देशद्रोह का मामला चलाकर उसे फांसी पर लटकाकर ही रहेंगे, ऐसा स्पष्ट करते हुए उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महाराष्ट्रवासियों की ओर से वचन दिया कि शिवराय का यह महाराष्ट्र महायुति के साथ और मजबूती से खड़ा रहेगा और आपको प्रधानमंत्री बनाकर ही रहेगा। शिवराय के मावले आपको यह वचन देते हैं। उद्धव ठाकरे के ऐसा कहते ही उपस्थित जनसमुदाय ने एक स्वर में मोदी-मोदी का जयघोष करते हुए वचन पर अपनी मोहर लगाई।