रावण का मुद्दा गर्माया तेजस्वी ने किया किनारा

बिहार की राजधानी पटना की सड़कों पर लगे पोस्टर में आरजेडी की तरफ से नीतिश कुमार को रावण दिखाए जाने के मामले में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सफाई दी है। पूरे मामले के एक दिन बाद तेजस्वी यादव ने ट्वीट करके अपने आप को इस पोस्टर से अलग कर लिया है। तेजस्वी ने ट्वीटर पर लिखा है कि मैं ऐसी तस्वीरों का समर्थन नहीं करता लेकिन साथ-साथ नीतिश को भी यह सोचना होगा की आज लोगों को उन पर इतना ग़ुस्सा क्यों है? क्या कारण है? उन्हें अंतरात्मा से जवाब मांग आत्ममंथन करना होगा कि उन्होंने जनता के साथ क्या-क्या वादाखिलाफियां की हैं। उन्हें जनता के ग़ुस्से पर चिंतन करना चाहिए
बता दें कि बुधवार को पटना की सड़कों पर आरजेडी की तरफ से कई पोस्टर लगाए गए थे, जिसमें मुख्यमंत्री नीतिश कुमार को ‘रावण’ के रूप में जबकि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को ‘राम’ के रूप में दिखाया गया था। इस पोस्टर के लगते ही कांग्रेस ने खुद को किनारा कर लिया था। राजद के पोस्टर पर कांग्रेस की आपत्ति सामने आई थी। कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इस मामले में आपत्ति जताते हुए कहा कि नीतिश सिर्फ नेता नहीं बिहार के मुख्यमंत्री भी हैं। मुख्यमंत्री को रावण दिखाना अनुचित है। कांग्रेस के ही सांसद अखिलेश सिंह ने कहा कि तेजस्वी राम हो सकते हैं लेकिन किसी और को रावण दिखाना अनुचित है, जबकि जेडी-यू सहित भाजपा ने भी तेजस्वी पर तंज कसा था।