राहुल की ‘घर स्कीम’ नल्ली, प्रशासन ने बताया असंभव

आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मुंबई दौरे पर गत दिवस आए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोषणा की थी कि कांग्रेस की सत्ता आने पर मुंबई के झोपड़ावासियों को ५०० वर्गफुट का घर दिया जाएगा। राहुल गांधी की उक्त घोषणा नल्ली साबित हो रही है। राहुल गांधी की घोषणा को प्रत्यक्ष रूप से अमल में लाना असंभव है। यह बात झोपु प्राधिकरण के अति वरिष्ठ अधिकारी ने कही। घरों के आकार को बार-बार बदलने से इस योजना को धक्का लग सकता है, ऐसा उक्त अधिकारी ने स्पष्ट किया। मतलब राहुल की घर स्कीम नल्ली है।
बता दें कि राज्य की भाजपा सरकार ने २००० से २०११ तक के झोपड़ावासियों को सशुल्क घर देने की मंजूरी दी है, जिसके कारण झोपड़ावासियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। पहले २६९ वर्गफुट उसके बाद ३०४ वर्गफुट का घर झोपड़ाधारकों को दिया जा रहा है। इसके लिए प्रस्ताव में संशोधन भी किया गया है। ऐसे समय में ५०० वर्गफुट का घर देने की घोषणा की गई तो झोपु योजना के लिए प्रस्तुत प्रस्ताव में कमी होगी, जिसके कारण झोपड़ाधारकों को कम घर मिलेगा। विकासक भी अतिरिक्त एफएसआई आदि की मांग करेंगे। इसके अलावा कई तकनीकी कारण सामने आएंगे, जिसके कारण ५०० वर्गफुट का घर देना असंभव है, ऐसा दावा वरिष्ठ अधिकारी ने किया।