रिकॉर्ड तोड़ मतों से हारेंगे संजय निरुपम, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का दावा

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने दावा किया है कि २०२४ तक विरोधी दल प्रधानमंत्री बनने का सपना देखना छोड़ दें। उत्तर-पश्चिम मुबंई से कांग्रेस के उम्मीदवार संजय निरुपम की हार रिकॉर्ड तोड़ मतों से होगी। २०१४ में जितने मतों से निरुपम हारे थे, उससे अधिक मतों से इस बार हारेंगे। ऐसा दावा डॉ. शर्मा ने किया।

कल मुंबई स्थित सहारा होटल में आयोजित पत्रकार परिषद में डॉ. शर्मा ने कहा कि मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले पर कांग्रेस सरकार को कुछ न बोलनेवाले निरुपम उरी पर हुए आतंकवादी हमले पर आशंका व्यक्त करते हैं और सबूत मांगते हैं। ऐसे निरुपम को जनता रिकॉर्ड मतों से हराएगी। ऐसा दावा शर्मा ने किया। विरोधी दलों पर हमला करते हुए शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री पद के लिए मायावती, अखिलेश यादव, शरद पवार, चंद्रबाबू नायडू आदि के साथ लालू यादव तो जेल में रहते हुए प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। वे लोग जो ३०,२०,२५ सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। २०२४ तक विरोधी दलों को पीएम का सपना देखना छोड़ देना चाहिए, ऐसा डॉ. शर्मा ने कहा। उत्तर प्रदेश में भाजपा की स्थिति के बारे में पूछे गए सवाल पर डॉ. शर्मा ने कहा कि अबकी बार ७४ पार। उन्होंने कहा कि योगी सरकार व मोदी सरकार ने जिस प्रकार से आपसी समन्वय बनाकर विकास का काम किया है। उस आधार पर भाजपा ७४ के पार जाएगी। २०१४ में दो लड़के अखिलेश व राहुल मिलकर चुनाव लड़े थे, बसपा विरोध में लड़ी थी। इस बार सपा, बसपा साथ मिलकर लड़ रहे हैं। कांग्रेस विरोध में लड़ रही है इसलिए भाजपा ७४ के पार जाएगी। विरोधी दलों के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए मोदी के लिए अपशब्द का प्रयोग विपक्ष कर रहा है, ऐसा डॉ. शर्मा ने कहा।

उन्होंने कांग्रेस-राकांपा को कागजी शेर बताते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर असत्य का प्रचार करके ये दोनों लोकप्रियता पाने की कोशिश कर रही हैं परंतु मोदी की लोकप्रियता की लहर चुनाव के दिन तूफान बनकर आएगी और इस तूफान में सभी विरोधी दल कहां उड़ जाएंगे, इसका पता भी नहीं चलेगा। साध्वी के बयान के बारे में पूछे गए सवाल पर डॉ. शर्मा ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ने खुलासा कर दिया है। उसके बाद यह विषय समाप्त हो गया। राममंदिर के बारे में डॉ. शर्मा ने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में राममंदिर बनाने की बात कही है।