रु. ६० हजार के लिए दोस्त के किए ३०० टुकड़े

शौचालय के चैंबर में मिले लाश के टुकड़ों से हत्या की एक ऐसी सनसनीखेज कहानी सामने आई है, जिसे सुनकर अच्छे-अच्छों की रूह कांप जाएगी। दर्दनाक अंत की यह कहानी है मीरा रोड स्थित नया नगर में रहनेवाले गणेश कोल्हटकर की। कोल्हटकर का प्रिंटिंग प्रेस का व्यवसाय था जबकि सांताक्रुज-पूर्व स्थित वाकोला निवासी पिंटू शर्मा शेयर दलाल का काम करता था। ६ महीने पहले इसी सिलसिले में कोल्हटकर की पहचान पिंटू शर्मा से हुई थी। बता दें कि विरार-पश्चिम में ग्लोबल सिटी स्थित बछराज पैराडाइज सोसायटी के अहाते में स्थित शौचालय के चैंबरों से तीव्र बदबू की शिकायत के बाद सफाईकर्मियों ने जब चैंबर का ढक्कन खोला तो मानव शरीर की दो उंगलियां फंसी नजर आ रही थीं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जब चैंबर व सीवर लाइन की पूरी जांच शुरू की तो मानव अंग के करीब १५० टुकड़े सीवर लाइन में फंसे मिले। फॉरेंसिक टीम की मदद से पुलिस एक इमारत के फ्लैट क्रमांक ६०२ में पहुंची। उक्त फ्लैट पिंटू ने किराए पर ले रखा था। अरनाला सागरी पुलिस ने इसके बाद पिंटू को वाकोला स्थित उसके घर से दबोच लिया। पिंटू ने पुलिस को बताया कि कोल्हटकर ने उससे १ लाख रुपए उधार लिया था, जिसमें ४० हजार रुपए उसने लौटा दिए लेकिन बाकी ६० हजार रुपए लौटाने में वह आनाकानी कर रहा था। १५ जनवरी को पिंटू पार्टी के बहाने कोल्हटकर को अपने साथ बछराज सोसायटी स्थित फ्लैट पर ले गया। वहां शराब के नशे में पिंटू ने कोल्हटकर को मार डाला और बाजार से आरी (एक्सो ब्लेड) खरीद कर लाश के छोटे-छोटे लगभग ३०० टुकड़े कर दिए। बाद में उन टुकड़ों को शौचालय में बहा दिया। कोर्ट ने पिंटू शर्मा को पुलिस हिरासत में भेज दिया है।
६ महीने पहले हुई दोस्ती
६० हजार रुपए का कर्ज
५ घंटे में किए लाश के ३०० टुकड़े
सीवर से मिले ३५ किलो के लोथड़े