रेप का रिवॉर्ड!, रिहाई की कीमत होगी नपुंसकता

रेप पूरी दुनिया के लिए सिरदर्द बन चुके हैं। आए दिन देश के अलग-अलग हिस्सों से रेप की खबरें आती रहती हैं। इन दिनों छोटी बच्चियों के साथ रेप की खबरें पर कई जगह विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। रेपिस्टों के लिए फांसी की मांग की जा रही हैं। इन्हीं खबरों के बीच एक खबर अमेरिका से आई है। अमेरिका के राज्य अलाबामा ने एक कानून बनाया है जिससे रेपिस्टों को जेल से रिहा करने से पहले रिवॉर्ड के रूप में इंजेक्शन देकर उसे नपुंसक बना दिया जाएगा।
खबर के अनुसार रेप के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को देखते हुए अलाबामा ने दोषियों को नपुंसक बनाने के लिए केमिकल के इस्तेमाल का पैâसला किया है। अमेरिका के अलाबामा में इसको लेकर नया कानून बनाया गया है। नए कानून के तहत १३ साल से कम उम्र के बच्चों के साथ सेक्स अपराध करनेवालों को नपुंसक बनाने के इंजेक्शन लगाए या दवा दी जा सकती है। कानून के मुताबिक बच्चों के साथ सेक्स अपराध के दोषियों को छोड़े जाने से पहले इंजेक्शन लगाए जा सकते हैं। इंजेक्शन की वजह से व्यक्ति का सेक्स ड्राइव घट जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंजेक्शन लगाने के बाद इसका असर हमेशा के लिए नहीं रहेगा। रिहाई से करीब एक महीने पहले से ये इंजेक्शन लगाए जाएंगे। खास बात ये है कि इंजेक्शन का खर्च दोषी व्यक्तियों को ही देना होगा। इंजेक्शन नहीं लगवाने का पैâसला करनेवाले लोगों को जेल से नहीं छोड़ा जाएगा। कोर्ट ही इस चीज को तय करेगा कि कब तक दोषी को इंजेक्शन लगाए जाने की जरूरत है। केमिकल वैâस्ट्रैक्शन में टैबलेट या इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है। इससे टेस्टोस्टिरोन का प्रॉडक्शन प्रभावित होता है और व्यक्ति का सेक्स ड्राइव कमजोर होता है। अमेरिकी सिविल लिबर्टी यूनियन ऑफ अलाबामा ने नए कानून की आलोचना की थी। यूनियन ने कहा था कि यह साफ नहीं है कि इस स्टेप का असल में कितना असर होता है। जब राज्य लोगों पर प्रयोग करता है तो यह संविधान के खिलाफ होता है।