रोड पर है धंधा मार्केट में मंदा, फेरीवालों का मनपा मार्वेâट से मोह भंग

मीरा-भाइंदर में फेरीवालों को व्यवस्थित रूप से निश्चित जगह पर बैठकर धंधा करने के उद्देश्य से मनपा ने सब्जी बाजार का निर्माण किया है, जहां पिछले चार महीने से बाजार लग रहा है। बाजार में जगह पाने के लिए उस समय जहां फेरीवालों में होड़ मची थी वहीं आज धीरे-धीरे कई ठेलेवाले वहां से पलायन कर रहे हैं।
ज्ञात हो कि मीरा-भाइंदर में लगातार फेरीवालों की बढ़ती संख्या के कारण ‘नो हॉकर्स जोन’ में ठेलेवाले बैठने लगे हैं। इस समस्या से निपटने के लिए अलग- अलग परिसर में मनपा सब्जीr मार्वेâट बना कर फेरीवाले को जगह मुहैया करा रही है। प्रथम चरण में मीरा रोड के हाडकेश परिसर में एक मार्वेâट और दूसरा रामदेव पार्क में बनाया गया है। लगभग चार महीना पहले चालू किए गए सब्जी मार्वेâट में उस समय फेरीवालों में जगह लेने के लिए होड़ मची थी। सूत्रों की मानें तो कई ठेलेवालों ने दलालों को कुछ पैसे भी दिए थे ताकि उनको वहां जगह मिल जाए लेकिन अब आलम यह है कि कुछ ठेलेवाले सब्जी मार्वेâट में जाकर पछता रहे हैं और बाहर फिर से रोड पर धंधा लगा रहे हैं। इस मामले में कई सब्जीवालों ने नाम नहीं छापने के शर्त पर बताया कि रोड पर धंधा लगाने पर मनपा ठीकेदार ४० रुपए की रशीद काटते हैं जबकि मनपा सब्जी मार्वेâट में ८० रुपए का भुगतान प्रतिदिन करना पड़ता है, उस पर लोग रोड किनारे लगे ठेले से आते-जाते समान ले लेते हैं, जबकि सब्जी मार्वेâट में जाने के लिए लोगों को तैयारी करनी पड़ती है दूसरी तरफ मार्वेâट के पास पार्किंग की भी सुविधा नहीं है। इन सब कारणों से ग्राहक भाजी मार्वेâट में आने से कन्नी काटते हैं। इस मामले में मनपा सार्वजनिक निर्माण अभियंता दीपक खांबित का कहना है कि मुझे ऐसी शिकायत अभी तक नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर इसकी जांच करेंगे। फेरीवालों के नेता दयाशंकर सिंह का कहना है कि कानून का उल्लघंन कर फेरीवालों को बैठाया गया है इसलिए यह सफल नहीं होगा।