" /> लद्दाख में एक और कोरोना पाजिटिव के साथ ही संख्या 3 हुई

लद्दाख में एक और कोरोना पाजिटिव के साथ ही संख्या 3 हुई

लद्दाख में एक और व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। इसी के साथ यहां कोरोना वायरस संक्रमित रोगियों की संख्या तीन पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि यह उसी व्यक्ति का बेटा है, जो हाल ही में इरान से लद्दाख आया है। लद्दाख पहुंचने पर उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया और इस बात की पुष्टि करने के लिए कि क्या वह कोरोनावायरस से प्रभावित है या नहीं, सैंपल लिए गए। टेस्ट रिपोर्ट में यह पुष्टि हो चुकी है कि यह व्यक्ति भी कोरोनावायरस से संक्रमित है।

लद्दाख के कमिश्नर सेक्रेटरी रिगजीन सेम्फेल ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि इसके पिता पहले से ही कोरोना वायरस से ग्रस्त हैं। यह उनके संपर्क में आया था। इसी वजह से इसे निगरानी में रखा गया था। अब यह पता चल चुका है कि यह भी कोरोना वायरस से ग्रस्त है। इसे अभी आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है और इसका इलाज चल रहा है। लद्दाख में इसी के साथ अब कोरोनावायरस से ग्रस्त लोगों की संख्या तीन पहुंच गई है। इससे पहले भी जो दो लोग कोरोनावायरस से ग्रस्त हैं, वह भी इरान यात्रा कर वापिस लौटे थे।  इस बीच दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में प्रशासन ने सरकारी आदेश की अनदेखी करने पर एक निजी स्कूल को सील कर दिया है। स्कूल ने जम्मू कश्मीर प्रशासन के उस आदेश को नजरअंदाज करते हुए आज भी स्कूल को खुला रखा जिसमें 31 मार्च तक सभी स्कूलों को बंद करने को कहा गया था।

शिकायत मिलने पर कुलगाम के चीफ एजुकेशन आफिसर ने आज जीनियस पब्लिक स्कूल नाम के स्कूल पर छापा मारा। स्कूल को खुला पाया गया। जिसके तुरंत बाद स्कूल पर ताला लगाकर बच्चों को घर भेज दिया गया। इसके साथ ही सरकार कि तरफ से जारी निर्देशों के अनुसार स्कूल पर कार्रवाई के लिए सारे रिकार्ड भी सील कर दिए गए। याद रहे जम्मू कश्मीर सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए बुधवार को सूबे के स्कूल, कालेज और यूनिवर्सिटी को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश जारी किया था। आदेश के मुताबिक सरकारी और प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स को आदेश का पालन करने को कहा गया था। अनदेखी करने वालो पर कड़ी करवाई का भी प्रावधान रखा गया है।

हालांकि जम्मू कश्मीर में कोरोना वायरस का अभी तक सिर्फ एक पॉजिटिव मामला सामने आया है। लेकिन करीब 70 लोग अभी भी संदिग्ध माने जा रहे हैं। आने वाले दिनों में दो से तीन हजार संदिग्ध लोगों के विदेशों से लौटने की संभावना के बीच कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता है। इसीलिए स्कूल कालेज बंद करने के साथ-साथ सभी सरकारी कार्यक्रमों पर भी 15 अप्रैल तक रोक लगा दी है।
दूसरी ओर जम्मू प्रशासन ने पुलिस से आग्रह किया है कि वे खुद जाकर स्कूलों और कोचिंग सेंटरों की जांच करें तथा जो आदेशों की उल्लंघना करता हुआ पाया जाता है उसके खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। जबकि कश्मीर में मेडिकल टीमों को उन घरों का दौरा करने के लिए कहा गया है जहां के लोग हाल ही में विदेशों से लौटे हैं।