" /> लद्दाख सीमा पर बढ़ा भारत-चीन में टकराव! -दोनों तरफ से हुआ पथराव -दोनों ओर से 3-3 सैनिक शहीद

लद्दाख सीमा पर बढ़ा भारत-चीन में टकराव! -दोनों तरफ से हुआ पथराव -दोनों ओर से 3-3 सैनिक शहीद

-शहीदों में एक कमांडिंग अफसर भी -पांच हफ्तों से जारी है टकराव

भारत और चीन के की सीमा (वास्तविक नियंत्रण रेखा) पर तनाव कम होने की बजाय बढ़ गया है। ताजा जानकारी के अनुसार भारत और चीन के सैनिकों के बीच एलओसी पर स्थित गलवन घाटी में बड़ी झड़प हुई है। इसमें एक भारतीय अफसर और दो जवानों के शहीद होने की सूचना मिली है।  शहीदों में एक कमांडिंग अफसर है। चीन के साथ इस झड़प से दोनों देशों के बीच तनाव और अधिक बढ़ सकता है। पूरे घटनाक्रम को लेकर विदेश मंत्रालय और सेना के विस्तृत बयान का इंतजार किया जा रहा है।  दोनों देशों के सेना के उच्च अधिकारी मौके पर बातचीत करके स्थिति को संभालने में जुटे हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना प्रमुखों, विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर और चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के साथ बैठक बुलाई है।

बता दें कि भारतीय और चीनी सैनिकों में पैंगोंग सो इलाके में 5 मई को हिंसक झड़प हुई थी जिसके बाद से दोनों पक्ष वहां आमने-सामने थे और गतिरोध बरकरार था। यह 2017 के डोकलाम घटनाक्रम के बाद सबसे बड़ा सैन्य गतिरोध बन रहा था। छह जून को हुई थी वार्ता दोनों देशों के बीच मौजूदा तनाव को लेकर अब तक की उच्च स्तरीय वार्ता 6 जून को हुई थी।
सेना ने बयान में कहा है कि लद्दाख के गालवान घाटी में चीन के साथ हिंसक टकराव में दोनों पक्षों को सैनिक हताहत हुए हैं। चीन के भी तीन सैनिकों के मारे जाने की भी खबर है।

गौरतलब है कि बीते पांच हफ्तों से गलवान घाटी में बड़ी संख्या में भारतीय और चीनी सैनिक आमने-सामने खड़े थे। यह घटना भारतीय सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के उस बयान के कुछ दिन बाद हुई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के सैनिक गलवान घाटी से पीछे हट रहे हैं।