" /> लव जिहाद का अड्डा बना कानपुर!, शालिनी के बाद सामने आए पांच और केस

लव जिहाद का अड्डा बना कानपुर!, शालिनी के बाद सामने आए पांच और केस

यूपी के कानपुर जिले में बर्रा की युवती का धर्मांतरण कर निकाह के मामले में पुलिस बजरंग दल के लगाए लव जिहाद के आरोप से किनारा कस रही है, मगर दावे यूं ही हवा में नहीं उड़ाए जा सकते। बीते दो माह में घर से भागी पांच युवतियों के जो दस्तावेज सामने आए हैं, उसमें आरोपियों के संबंध जूही लाल कॉलोनी से हैं। यह इशारा है कि इन दिनों जूही लाल कॉलोनी लव जिहाद के नए अड्डे के रूप में सामने आई है।
बर्रा-६ निवासी जयचंद यादव की बेटी शालिनी यादव का मामला दिन पर दिन जोर पकड़ रहा है। शालिनी २९ जून को घर से परीक्षा देने के लिए निकली तो वापस नहीं लौटी। वह दस लाख रुपए की रकम भी ले गई थी। गुरुवार को फेसबुक पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें शालिनी ने दावा किया कि उसने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम फिजा रख लिया है और फैसल नाम के एक युवक से निकाह कर लिया है। फैसल लाल कॉलोनी का रहनेवाला है। इसी तरह से एक मुकदमा कल्याणपुर में दो जुलाई को हुआ था, जिसमें आवास विकास तीन निवासी दो सगी बहनों को बहला-फुसलाकर शाहरुख पुत्र कमाल और शाहरुख पुत्र खलील भगा ले गए थे। दोनों जूही लाल कॉलोनी के ही रहनेवाले हैं। तीसरा मामला पनकी रतनपुर कॉलोनी का है। यहां की एक युवती व उसकी छोटी बहन को जूही लाल कॉलोनी के मोहम्मद मोसीन ने प्रेम जाल में फंसाया। समय रहते छोटी बहन सतर्क हुई तो मामला खुल गया। सूत्रों का दावा है कि पुलिस जांच करे तो इस साल विभिन्न थानों में दर्ज ऐसे मामलों में एक दर्जन आरोपी जूही लाल कॉलोनी के ही हैं। बताते हैं कि इस कॉलोनी में लव जिहाद के लिए बाकायदा ट्रेनिंग कैंप चल रहे हैं। दर्ज मामलों के पीड़ितों के मुताबिक पुलिस प्रेम प्रसंग मानकर ही जांच करती है। जब उन्होंने निजी प्रयासों से पड़ताल की, तब पता चला कि आरोपी युवकों के कई लड़कियों से संबंध हैं। पुलिस इस दिशा में जांच करे और कॉल रिकॉर्ड खंगाले तो कई बड़े राज सामने आ सकते हैं। आईजी मोहित अग्रवाल कहते हैं कि एक ही क्षेत्र से इतने मामले हैं तो यह गंभीर विषय है। मामले की जांच के लिए पांच सदस्यीय टीम गठित की जाएगी।