लव, सेक्स और धोखा! वकील ने ६ बार बेल लेने से रोका

प्यार का नाटक कर लड़कियों के साथ सेक्स करने और फिर चोरी से उनकी अश्लील फोटो पोर्न वेबसाइट्स पर अपलोड करनेवाले धोखेबाजों को मुंबई के साइबर लॉयर (वकील) ने बढ़िया सबक सिखाया है। लव, सेक्स और फिर धोखा देनेवाले आरोपी को एड. प्रशांत माली ने एक बार नहीं बल्कि ६ बार बेल लेने से रोका है।
बता दें कि सचिन सेहगल (बदला हुआ नाम) ने पीड़िता को फांसकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया और मोबाइल द्वारा उसकी न्यूड फोटो खींचकर १४५ पोर्न वेबसाइट पर अपलोड कर दिया। लड़की ने पुलिस स्टेशन में मामला भी दर्ज करवाया। जांच में पता चला कि इसके पहले भी आरोपी ने इसी प्रकार एक और लड़की को अपना शिकार बनाया था। जिसके बाद नासिक साइबर पुलिस ने तहकीकात शुरू की। पुलिस ने आरोपी के पास से मोबाइल और कंप्यूटर बरामद किया। जिसके बाद आरोपी के खिलाफ आईटी एक्ट ६७ (ए) के तहत गत वर्ष मामला दर्ज हुआ। ऐसे में पीड़िताओं की मदद के लिए जाने-माने साइबर लॉयर और साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ एडवोकेट प्रशांत माली ने प्रो बोनो (मुफ्त) इंटरवेनॉर के तौर पर खड़े हुए। आरोपी द्वारा जमानत के लिए ५ बार लोअर कोर्ट और अब हाईकोर्ट में अर्जी डाली गई लेकिन प्रशांत माली की दलीलों के कारण वह नाकामयाब रहा है। एड. प्रशांत माली ने कहा कि हाईकोर्ट में विगत एक साल में बेल को लेकर १९ बार सुनवाई हुई है, ४ जज की बदली हुई इसी दरम्यान ४ सरकारी वकील और आरोपी के लिए दो वरिष्ठ काउंसलर भी बदले गए लेकिन इसके बावजूद आरोपी को बेल नहीं मिल पाई। मध्यस्थता कर रहे एड. प्रशांत की दलीलों के कारण विगत १६ महीनों से आरोपी सलाखों के पीछे है। कालीना फॉरेंसिक विभाग में भेजे गए आरोपी के मोबाइल और लैपटॉप से अश्लील फोटो अपलोड होने की भी पुष्टि हो गई है।