" /> ली ने पोंछे शेफाली के आंसू

ली ने पोंछे शेफाली के आंसू

टीम इंडिया की फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार के बाद इस मैच में असफल रही १६ साल की तूफानी बल्लेबाज शेफाली वर्मा रो पड़ी थीं। ये स्वाभाविक भी था, कम उम्र में कोई बड़ी पराजय एकदम से पच नहीं पाती और तब बिल्कुल नहीं जब आप बेहतरीन फॉर्म में हों। पहली बार फाइनल में पहुंची टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल में ८५ रनों से हराया था। फाइनल में शेफाली वर्मा अपनी लय कायम नहीं रख सकीं और मैच के बाद उनके आंसू नहीं रुक रहे थे। ब्रेट ली ने आईसीसी के लिए अपने कॉलम में लिखा, मुझे शेफाली वर्मा के लिए बहुत बुरा लग रहा था। उन्‍हें रोते देखकर अच्छा नहीं लगा लेकिन उन्‍हें अपने प्रदर्शन पर फख्र होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पहले ही टूर्नामेंट में इस तरह का प्रदर्शन उनकी प्रतिभा और मानसिक दृढ़ता दिखाता है। वे यहां से बेहतर होकर ही निकलेंगी। इस अनुभव से सीखकर वे मजबूती से वापसी करेंगी। ली ने कहा कि हिंदुस्थान के लिए यह निराशाजनक रात थी लेकिन हिंदुस्थानी टीम वापसी करेगी। यहां सब कुछ खत्म नहीं हो जाता। यह शुरुआत भर है।