लूट के पैसे से कर रहे थे ऐश, व्रजेश्वरी मंदिर लूटकांड

भिवंडी तालुका के पुरातन वङ्कोश्वरी मंदिर में डवैâती करनेवाले पांचों डवैâतों को आखिरकार पुलिस ने दस दिन बाद दादरा नगर हवेली व जव्वार से धर-दबोचा है। पकड़े गए डवैâतों में दो सगे भाइयों का समावेश है, जिनके पास से पुलिस ने दो लाख ८४ हजार रुपए बरामद किया है। जबकि तीन लोगों की अभी पुलिस तलाश कर रहीr है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आपराधिक पृष्ठभूमि वाले हैं। लूट के पैसे से ये लूटेरे ऐश कर रहे थे। डवैâतों की गिरफ्तारी के बाद हिंदुओं ने राहत की सांस ली है।
मालूम हो कि वङ्कोश्वरी मंदिर में १० मई को सुबह तीन बजे पांच सशस्त्र लुटेरे घुसकर हथियार की नोंक पर वॉचमैन की पिटाई कर उसे बांध दानपेटी से सात लाख १० हजार रुपए की डवैâती कर फरार हो गए थे। लूटपाट की वारदात सीसीटीवी वैâमरे में वैâद हो गई थी। पुलिस ने डवैâती के बाद उन्हें पकड़ने के लिए पांच-पांच लोगों की तीन टीमों का गठन किया था। ५ डवैâतों को जव्वार व दादरा नगर हवेली से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार डवैâतों में गोविंद सोमा गिंभल (३५), विनीतसरजी चिमड़ा (१९), भरत लक्ष्मण वाघ (२२), जगदीश काशीनाथ नावतरे (२६) व प्रवीण काशीनाथ तरे (२२) है। गोविंद जव्वार का है जबकि अन्य शाहपुर निवासी हैं। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के साथ अन्य तीन लोग इस डवैâती में शामिल थे। जो पहले दस दिनों तक मंदिर का रेकी किए थे।पुलिस ने बताया कि डकैती करने के बाद लुटे गए पैसे को आपस मे बंट कर सभी जव्वार व दादरा नगर हवेली में ऐश करने चले गए थे। गिरफ्तार आरोपियों के पास से पुलिस ने दो लाख ८३ हजार रुपए व दो बाइक सहित तीन लाख ८३ हजार का माल बरामद कर लिया है, जबकि फरार डवैâतों के तीन साथियों की तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है।

 दादरा नगर हवेली व जव्हार से धराए
 तीन लाख ८३ हजार वैâश बरामद
 १० दिन में धरे गए आरोपी
 ३ की तलाश जारी है