लेट हैं इंद्र देव, ६५ फीसदी बारिश हुई कम

इस बार इंद्र देव मुंबई पहुंचने में काफी लेट हो गए हैं। एक दशक बाद मुंबई में देरी से मॉनसून का आगमन होनेवाला है। आंकड़ों पर गौर करें तो मुंबई में गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष मुंबई में २० जून तक ६५ फीसदी बारिश कम हुई है। विशेषज्ञों की मानें तो कम बारिश होने का कारण इंद्र देव की लेट-लतीफी है। अगर मंगलवार तक बारिश होती है तो शायद जून माह के अंत तक कोटा पूरा हो जाए।
मॉनसून में हो रही देरी के कारण बारिश के आंकड़ों में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। पिछले साल २० जून तक शहर में १९ जबकि उपनगर में १६ प्रतिशत बारिश हुई थी। हालांकि इस साल बारिश का यह आंकड़ा ६ प्रतिशत ही है। विशेषज्ञों के अनुसार, मॉनसून के सेट होने में हो रही देरी के कारण इस साल जून को मिलनेवाली सामान्य बारिश लगभग कम रहने की उम्मीद है।
शुक्रवार को मौसम विभाग ने महाराष्ट्र में मॉनसून के आगमन की औपचारिक तौर पर घोषण कर दी है। विशेषज्ञों की मानें तो २३ के बाद ही मॉनसून का आगमन मुंबई में होगा ऐसे में मुंबईकरों को जून में मिलनेवाला बारिश का कोटा पूरा होना मुश्किल लग रहा है। इस बार शहर में ७० फीसदी और उपनगर में ६० फीसदी बारिश कम हुई है। मौसम विशेषज्ञ दिनेश मिश्रा ने बताया कि ‘वायु’ के चलते शहर को थोड़ी-बहुत बारिश मिल भी गई, वरना मॉनसून तो लेट है ही। संभवत: २४ या २५ जून को मॉनसून मुंबई में दस्तक देगा।