" /> लेह में घुसा कोरोना! एक जवान में हुई पुष्टि, निगरानी में 800 जवान

लेह में घुसा कोरोना! एक जवान में हुई पुष्टि, निगरानी में 800 जवान

बर्फीले रेगिस्तान लद्दाख में सेना में भी कोरोना वायरस घुस गया है। एक जवान में इसके होने की पुष्टि के बाद सेना को अपने उन 800 से अधिक जवानों को निगरानी में रखना पड़ा है जो संक्रमित जवान के साथ तैनात थे। हालांकि जवान के पिता को कोरोना वायरस होने की पुष्टि पहले ही हो चुकी थी जबकि अब उसकी बीबी, बहन और बच्ची को भी अलग रखा गया है।
लेह में एक जवान में कोरोना वायरस का मामला सामने आया है। जवान लद्दाख स्काउट का है। जवान के पिता हाल ही में ईरान से लौटे थे। वह भी कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। जवान का इलाज चल रहा है। वहीं उनकी पत्नी, बहन सहित अन्य परिजनों को कोरेंटाइन किया गया है।
लद्दाख में कोरोना पाजिटिव पाए गए जवान के साथ रहे 800 से अधिक सेना के जवानों की एकांतवास में निगरानी व जांच चल रही है। लद्दाख में बुधवार को कोरोनोवायरस संक्रमण के दो और नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या आठ पहुंच गई है। इस बात की पुष्टि करते हुए लद्दाख के कमिश्नर सेक्रेटरी रिगजिन सैंफल ने बताया कि अब तक 34 सैंपल की रिपोर्टों आ चुकी हैं और इनमें दो लोग वायरस से संक्रमित पाए गए है। ये दोनों मरीज भी उसी परिवार से संबंधित हैं, जिनका एक सदस्य हाल ही में ईरान से वापस लौटा था।
सैंफल ने बताया कि दोनों मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। यही नहीं भीड़ भाड़ कम करने के लिए लेह और करगिल प्रबंधन ने धारा 144 लागू कर दी है। लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। वहीं गत मंगलवार को भी लद्दाख में जो दो नए मामले सामने आए थे, उनमें लद्दाख स्काउट्स में तैनात सेना का एक जवान भी शामिल था। जवान के संक्रमित पाए जाने पर उसके यूनिट के दस सैनिकों जो उसके साथ बैरक में रहते थे, को भी एहतियात के तौर पर अलग रखा गया है यही नहीं लद्दाख रेजिमेंटल सेंटर में लगभग 800 जवानों को भी फिलहाल निगरानी में रखा गया है।