" /> लॉकडाउन का फायदा उठाकर भेजा बनावटी ईमेल : मुंबई के व्यापारियों को लूटनेवाले गैंग का पर्दाफाश

लॉकडाउन का फायदा उठाकर भेजा बनावटी ईमेल : मुंबई के व्यापारियों को लूटनेवाले गैंग का पर्दाफाश

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण देश में पिछले दो माह से लॉकडाउन घोषित किया गया है, जिसके कारण सभी व्यापारियों को काफी घाटा हुआ है। ऐसे में इस समय साइबर क्राइम के मामलों में काफी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। मुंबई पुलिस ने हाल ही में एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है, जो मुंबई के व्यापरियों को बनावटी ईमेल भेजकर उनके साथ लूटपाट करता था।
बता दें कि मुंबई के कई पुलिस स्टेशनों में पिछले कुछ समय से विभिन्न व्यापारियों की शिकायतें आ रही थीं कि बनावटी ईमेल के द्वारा उनके साथ लूटपाट की गई है। 13 मई को ऐसा ही एक मामला लोकमान्य तिलक मार्ग पुलिस स्टेशन में एक व्यापारी ने दर्ज करवाया। इस मामले मे पीड़ित व्यापारी का औषधि और केमिकल आयात करने का व्यापार है और उसका पिछले कई सालों से बड़ी-बड़ी कंपनियों से व्यावसायिक संबंध हैं। ऐसे में पीड़ित व्यापारी के पास एक परिचित कंपनी के नाम से 12 मई को मेल आया कि लॉकडाउन होने के कारण पैसों की अधिक आवश्यकता है इसलिए व्यापारी को 15 लाख रुपए भेजने होंगे। व्यापारी ने ईमेल में बताए गए खाते में पैसे भेज दिए। इसके बाद जब व्यापारी ने इसकी सूचना देने के लिए कंपनी के मालिक को फोन किया तो उसके होश उड़ गए। कंपनी के मालिक ने बताया कि उसने व्यापारी को कोई मेल नहीं भेजा और मेल द्वारा भेजा गया एकाउंट नंबर उसका नहीं है। इस पर व्यापारी को पता चल गया कि उसके साथ ठगी हई है और उसने मामला लोकमान्य तिलक मार्ग पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाया। पुलिस ने मामला दर्ज कर व्यक्ति के बैंक एकाउंट की जांच-पड़ताल शुरू कर दी, जिसके आधार पर पुलिस को दो स्थानीय लोगों सहित एक नाइजीरियन के नाम की जानकारी मिली। पुलिस ने मामले को अंजाम देकर 27 मई को तीनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर इस बात की भी जांच-पड़ताल शुरू कर दी है कि आरोपियों ने मुंबई, ठाणे और आस-पास के कितने व्यापारियों के साथ धोखाधड़ी की है।