" /> लॉकडाउन में गांव लौटे प्रवासी युवकों ने बनाया लुटेरा गैंग, पुलि‍स ने सरगना सहि‍त 5 सदस्‍यों को कि‍या गि‍रफ्तार

लॉकडाउन में गांव लौटे प्रवासी युवकों ने बनाया लुटेरा गैंग, पुलि‍स ने सरगना सहि‍त 5 सदस्‍यों को कि‍या गि‍रफ्तार

पिछले दिनों रोहनिया थाना अंतर्गत लूट की घटना को अंजाम देने के मामले में आरोपि‍त पांच शातिरों को गिरफ्तार कर वाराणसी पुलिस ने बड़ी सफलता प्राप्त की है। सीसीटीव फुटेज और मुखबीर की सूचना पर पांचों अभियुक्तो को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूट के 6300 रुपये, दो बाइक और लूट में इस्तेमाल की गई अन्य चीजों को भी बरमाद कर लिया गया है।

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक मार्तण्‍ड प्रकाश सिंह ने प्रेस वार्ता में बताया कि 28 अगस्त को मिर्जामुराद थाना क्षेत्र से कंडक्टर का बैग लूटा लिया गया था, जिसके संबंध में थाना मिर्जामुराद पर मुकदमा पंजीकृत हुआ था। उस बैग को भी बरामद किया गया है, जो जगरदेव बगीचे के तालाब के झाड़ में फेके गए थें। अभियुक्त सतीश कुमार के कब्जे से एक तमंचा और एक जिंदा कारतूस भी बरामद हुआ है।

उन्होंने बताया कि अभियुक्त सतीश कुमार गोवा में मजदूरी करता था और अभियुक्त गढ़पत बिंद भी मुंबई में मजदूरी करता था। लॉकडाउन के चलते दोनों अपने गांव वापस आये थें और माली हालत खसता होने के चलते अपने साथियों के साथ गैंग बनाकर लूटपाट की घटना को अंजाम देने लगे। पकड़े गए पांचों अभियुक्त शातिर किस्म के चोर है।
थाना रोहनिया व मिर्जामुराद के घटनाओं का लूटा गया पूरा रुपया व बैग रोडवेज की टिकट आदी बरामद कर ली गई है। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसएचओ परशुराम त्रिपाठी, निरीक्षक क्राइम इंद्रभूषण यादव, उप निरीक्षक सचिन कुमार चोकी प्रभारी मातलदेई थाना रोहनिया, उप निरीक्षक उमेश चंद्र विश्वकर्मा, कांस्टेबल संजय प्रजापति, कांस्टेबल अविनाश शर्मा ने मुख्य भूमिका निभाई।